कबीरधाम में दो बांध टूटने से तबाही

कवर्धा: छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में भारी बारिश के चलते राजीव गांधी जल ग्रहण मिशन के अंतर्गत निर्मित दो बांध टूट गए हैं जिनसे लगभग दो सौ एकड़ में फैले खेतों की फसलों को नुकसान पहुंचा है. कुछ मकानों को भी बांध के पानी ने नुकसान पहुंचाया है. ग्रामीणों की मानें तो उनके मवेशी भी इस प्राकृतिक विपदा के भेंट चढ़ गए.

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में गत तीन दिनों से रुक-रुक कर तेज बारिश हो रही है जबकि कुछ इलाकों में तो सूखे की स्थिति भी है.


मिली जानकारी के मुताबिक, 19 अगस्त को सुबह तीन-चार बजे से हो रहे तेज बारिश के चलते कबीरधाम जिले के सिंघारी के पास राजीव गांधी जल ग्रहण मिशन से निर्मित दो छोटे बांध टूट गए. वहीं दर्जनों मकानों में पानी घुसने से कच्चे मकानों के गिरने का खतरा बढ़ गया है. वहीं पानी भरने से लोगों के राशन कपड़े, बिस्तर एवं अन्य सामान भीग गए हैं.

गौरतलब है कि कबीरधाम खुद मुख्यमंत्री रमन सिंह का गृह जिला है. बोड़ला ब्लॉक मुख्यालय से लगभग 12 किलोमीटर दूर ग्राम सिंघारी के पास पहाड़ी के समीप राजीव गांधी जल ग्रहण मिशन द्वारा दो छोटे-छोटे बांधों का निर्माण कराया गया है, सिंघारी से एक किलोमीटर दूर पहाड़ी के पास एक बांध सात-आठ वर्ष पूर्व बनाया गया है, वहीं दो ढाई किलोमीटर दूर पहाड़ियों के पास गांगीडबरी में भी एक और बांध बनाया गया है, भारी बारिश के चलते पहले गांगीडबरी का बांध टूटा उसके बाद लगभग 12 बजे सिंघारी से लगा बांध टूट गया.

बांध टूटने के कारण सौ एकड़ से ज्यादा खेतों की फसलों को नुकसान हुआ है. ग्रामीणों ने बताया कि बांध टूटने से उन्हें काफी नुकसान हुआ है. बहरहाल, प्रशासन के आला अफसर अभी तक प्रभावित इलाके का जायजा नहीं ले पाए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!