छत्तीसगढ़: देह व्यापार का पर्दाफाश

कोरबा | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में सीएसईबी पूर्व के आवासीय परिसर स्थित एक मकान में प्रेस की आड़ में देह व्यापार चलाने वाले एक गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है. पुलिस की टीम ने यहां दबिश देते हुए महिला सरगना के अलावा कोलकाता व धमतरी से बुलाए गए दो युवती को दो युवक के साथ गिरफ्तार किया है. पुलिस ने साथ ही मौके से 9 मोबाइल, 2700 रुपये नकदी, एक स्कूटी, एक बाइक समेत भारी मात्रा में आपत्तीजनक सामान बरामद की है. मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की है.

नगर पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर ने बताया कि रामपुर पुलिस चौकी अंतर्गत सीएसईबी कालोनी में देह व्यापार की शिकायत मिल रही थी. पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा ने इसे गंभीरता से लेते हुए सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ करने के निर्देश सीआईटी व पुलिस की संयुक्त टीम को दी थी.


मंगलवार की दोपहर करीब 2.45 बजे मुखबिर ने पुलिस के आला अधिकारियों को सूचना दी कि उक्त मकान में दो युवक व तीन युवती संदिग्ध हालत में देखे गए हैं. सूचना मिलते की पुलिस की टीम ने मकान में दबिश दी. इस दौरान दो युवक और दो युवती आपत्तिजनक हालत में पुलिस के हत्थे चढ़ गए. वहीं गिरोह की महिला सरगना को भी पुलिस ने मौके पर दबोच लिया.

पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि एक युवती 24 परगना कोलकाता की व एक अन्य युवती धमतरी की रहने वाली है. एक युवती ने बताया कि वह धमतरी से सप्ताह भर पूर्व यहां आई हुई हैं. दूसरे ने सोमवार को यहां पहुंचने की जानकारी दी.

इसी तरह पुलिस पूछताछ के दौरान पकड़े गए एक युवक ने अपना नाम पाली रोड दीपका निवासी सुनील कुमार पिता हरिश्याम व दूसरे ने पथरीर्पारा निवासी अरुण दास पिता तुलसीदास बताया है. पुलिस को आवास से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामान मिले हैं.

आरोपियों से 9 मोबाइल, एक स्कूटी, एक बाइक व 27 सौ रुपए नकदी रकम बरामद की गई है. पुलिस ने मामले में आरोपियों के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की है. गौरतलब है कि सीएसईबी के इस आवास में चल रहे अवैध कारोबार को लेकर कालोनीवासी परेशान थे. अब जब पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सेक्स रेकेट का भंडाफोड़ किया है, ऐसे में कालोनीवासियों ने राहत की सांस ली है.

मोबाइल में युवतियों की 100 तस्वीरें :
महिला सरगना सेक्स रेकेट के इस गिरोह का संचालन बड़े ही शातिराना अंदाज में कर रही थी. पुलिस ने उसके पास से 9 मोबाइल जब्त किए हैं. इसमे से एक मोबाइल मे विभिन्न मुद्रा में अलग-अलग युवतियों की लगभग 100 तस्वीर मिले हैं. इसमें शहर के अलावा दीगर क्षेत्र की युवतियां भी शामिल है. इसी तरह मोबाइल में शहर व अन्य क्षेत्र के लोगों के नंबर भी लोड हैं.

बताया जा रहा है कि बाहर से युवती को बुलाने के बाद उसकी तस्वीर वाट्सएप में डाली जाती थी. वाट्सअप में तस्वीर देख ग्राहक नंबर पर संपर्क करते थे और उसे पसंद के अनुरूप युवती उपलब्ध कराई जाती थी. पुलिस ने अन्य मोबाइल में कैद तस्वीर और नबंरों की जांच शुरू कर दी है. गिरोह का भंडाफोड़ करने के बाद पुलिस ने कई बिदुंओं पर जांच शुरू कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!