हरियाणा के चौथे लाल, मनोहर लाल

चंडीगढ़ | एजेंसी: हरियाणा के चौथे लाल के रूप में भाजपा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का नाम जुड़ गया है. इसे संयोग ही माना जा सकता है कि पहली बार विधायक बनने के बाद भी मनोहर लाल, हरियाणा के मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हो गये. हरियाणा के लालो ने राज्य की राजनीति से शुरु करके राष्ट्रीय राजनीति तक में अपनी छाप छोड़ी है. यह आने वाला समय ही बतायेगा कि हरियाणा के चौथे लाल, मनोहर लाल कहां तक सफल होते हैं. एक समय था जब तीन लाल हुआ करते थे-देवी लाल, बंसी लाल और भजन लाल. हालांकि इनका राजनीतिक जीवन कई साल पहले थम गया, लेकिन राज्य को रविवार को मुख्यमंत्री के रूप में एक और लाल मिल गया.

हरियाणा में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नाम भी ‘लाल’ जुड़ा हुआ है. खट्टर ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ‘मनोहर लाल’ के रूप में ली. चुनाव शपथ पत्र में भी उन्होंने अपने नाम में खट्टर उपनाम नहीं जोड़ा है. वह पंजाबी समुदाय से आते हैं और उनका जन्म रोहतक जिले में हुआ है.

हालांकि चुनाव प्रचार अभियान के दौरान और यहां तक कि हरियाणा सरकार से जारी प्रेस बयान में मुख्यमंत्री के नाम में खट्टर जुड़ा हुआ है.

खट्टर पहली बार करनाल से विधायक बने हैं.

हरियाणा में राज्य के गठन नवंबर 1966 के समय से 1999 तक को लाल युग कहा जा सकता है.

देवी लाल और बंसी लाल राजनीतिक वर्चस्व वाले जाट समुदाय से आते हैं. बंसी लाल 1968-75, 1986-87, 1996-99 तक मुख्यमंत्री के पद पर रहे.

देश के उपप्रधानमंत्री रह चुके देवी लाल 1977-79 और 1987-89 तक राज्य के मुख्यमंत्री पद पर रहे.

भजन लाल गैर जाट समुदाय से आते हैं और वह 1979-86 और 1991-96 तक राज्य के मुख्यमंत्री पद पर रहे.

उल्लेखनीय है कि भारतीय जनता पार्टी ने पिछले सप्ताह घोषित चुनाव परिणाम में 90 सदस्यीय विधानसभा में 47 सीटें जीतकर इतिहास रचा. भाजपा ने राज्य में पहली बार वह भी अकेले दम पर सरकार बनाई है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *