विजयनगरम:10 में से 7 की पहचान हुई

हैदराबाद | एजेंसी: आंध्रप्रदेश के विजयनगरम में शनिवार तड़के एक अन्य रेलगाड़ी की चपेट में आकर मरने वाले बोकारो एक्सप्रेस के 10 में से 7 सवारियों की शिनाख्त हो गई है. यह जानकारी पुलिस ने दी. रविवार को पुलिस अधिकारी ने कहा कि सभी शवों को विशाखापत्तनम स्थित रेलवे अस्पताल भिजवा दिया गया है. एक शव की शिनाख्त अभी नहीं हो पाई है.

वहीं, दो घायलों से एक की हालत नाजुक बनी हुई है. मृतकों की पहचान एलेक्सिस (27), श्वेता सिंह (33), समहिता (10), शौर्या (2), तारा देवी (34), कार्ति साहू (70) और लोकेंद्र कुमार (28) के रूप में हुई है.


पुलिस ने बताया कि लोकेंद्र कुमार सेना का जवान था. मृतकों में तीन सदस्य एक ही परिवार के हैं.

हादसे में मरने वाले एक ही परिवार के तीन लोग बिहार के औरंगाबाद से थे. हादसे में मनोज कुमार ने पत्नी श्वेता सिंह और अपने दो बच्चों शौर्या एवं समहिता कुमारी को खो दिया. परिवार बेंगलुरु से औरंगाबाद लौट रहा था.

यह भीषण रेल दुर्घटना यहां से 700 किलो मीटर दूर विजयनग्राम शहर के पास स्थित गोतलम में हुई. दुर्घटना उस समय हुई जब अलाप्पुझा-धनबाद एक्सप्रेस में सवार कुछ यात्रियों ने रेलगाड़ी में आग की लगने की अफवाह के बाद रेलगाड़ी की चेन खीच कर रोक दी और छलांग लगा दी. वे लोग विपरीत दिशा से आ रही ट्रेन को नहीं देख पाए.

रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि बोकारो एक्सप्रेस के नाम से भी जानी जाने वाली अलाप्पुझा-धनबाद एक्सप्रेस केरल के अलाप्पुझा से झारखंड स्थित धनबाद जा रही थी.

रेलवे ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं. रेलवे मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने इसे सबसे भयावह हादसा बताया और अधिकारियों को घायलों को तत्काल उपचार दिलाने के निदेश दिए हैं.

वहीं, आंध्रप्रदेश के मुख्य मंत्री एन. किरण कुमार रेड्डी ने हादसे पर शोक प्रकट किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!