कराची एयरपोर्ट पर हमले में 23 की मौत

कराची | समाचार डेस्क: पाकिस्तान में हवाई अड्डे पर हमले में 23 लोग मारे गये हैं. बीबीसी के अनुसार पाकिस्तान के शहर कराची के क़ायदे आज़म जिन्ना अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर चरमपंथियों ने हमला किया था.एयर पोर्ट परिसर में मौजूद एक दो मंजिला इमारत के अंदर हमलावरों और सुरक्षाकर्मियों के बीच काफ़ी देर से मुक़ाबला हुआ. मुठभेड़ में एयरपोर्ट सुरक्षा बल के कुछ अधिकारी और चरमपंथी मारे गए हैं.

पाकिस्तानी सेना के जनसंपर्क प्रमुख असीम बाजोह ने एक ट्वीट में कहा कि उनकी हवाई अड्डे के परिचालन कमांडर से बात हुई है जिन्होंने कहा है कि चरमपंथी एक ख़ास क्षेत्र में हैं जहां उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई जारी है. जिन्ना टर्मिनल सुरक्षित है और किसी जहाज आग नहीं लगी. इधर पीआईए के अधिकारियों ने सेना को बताया कि हमलावर दो समूहों में थे और एक स्थान से निकल कर फ़ायरिंग कर रहे थे. एएसएफ़ के एक अधिकारी ने बताया कि हमलावरों के पास रॉकेट भी था.

कराची के एसएसपी मलेर ख़ान अनवार का कहना है कि पांच से छह बंदूकधारियों ने पुराने टर्मिनल से एयरपोर्ट में प्रवेश किया और इस दौरान उन्होंने हथगोले भी फेंके. कराची हवाई अड्डे पर आने वाली उड़ानों को दूसरे शहरों की ओर मोड़ा गया है.

गौरतलब है कि तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने जिन्ना अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली है. यह जानकारी मीडिया रिपोर्टो से सामने आई है.

पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची के जिन्ना अतंर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर रविवार रात हुए आतंकवादी हमले को देखते हुए दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा के दोनों टर्मिनलों पर सोमवार को सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

इधर, आईजीआईए की सुरक्षा के लिए केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के 5,000 जवानों को तैनात किया गया है. उन्हें किसी भी संदिग्ध गतिविधि के मद्देनजर चौकसी बरतने और करीबी निगाह बनाए रखने की सलाह दी गई है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “हवाईअड्डे की बाहरी सुरक्षा के लिए जवाबदेह दिल्ली पुलिस पाकिस्तानी हवाईअड्डे पर हुए हमले के बाद और सतर्क हो गई है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *