‘रोबोट’ रजनीकांत राजनीति में सफल होंगे?

चेन्नई | मनोरंजन डेस्क: फिल्म ‘अंधा कानून’ में कानून तोड़ने वालो राजनेताओं की धज्जिया उड़ा देने वाले तमिल तथा हिन्दी फिल्मों के रजनीकांत ने राजनीति में आने का संकेत दिया है. उनसे पहले दक्षिण में जयललिता से लेकर चिरंजीवी तक फिल्मों से राजनीति में आ चुकें हैं. उनमें से कईयो को तो राजनीति में बेहद सफलता मिली है तथा कुछ फलाप भी हुए हैं. ऐसे में यह सवाल उठना लाजिमी है कि क्या रजनीकांत पिल्मों के समान ही राजनीति में भी सफलता के झंडे गाड़ सकेंगे. वैसे उनकी चश्मा पहनने से लेकर सिगरेट सुलगाने की स्टाइल पर दर्शक एक समय फिदा हुआ करते थे.

उम्मीद की जा रही है कि रजनीकांत यदि राजनीति में कदम रखेंगे तो दक्षिण से ही इसकी शुरुआत करेंगे. सुपरस्टार रजनीकांत ने रविवार को संकेत दिया कि अगर भगवान ने चाहा तो वह राजनीति में आकर लोगों की सेवा करेंगे. अपनी आगामी तमिल फिल्म ‘लिंगा’ के ऑडियो लांच मौके पर रजनीकांत ने संवाददाताओं को बताया, “हर कोई चाहता है कि मैं राजनीति में आऊं. मैं इसकी गहराई और जोखिम से वाकिफ हूं. मैं डरता नहीं हूं, लेकिन बस थोड़ी सी हिचक है. यह मेरे हाथ में नहीं है. अगर ईश्वर ने चाहा, तो मैं लोगों की सेवा करूंगा.”


उन्होंने कहा, “मेरे ख्याल से सामाजिक संदेश वाली फिल्में करना भी एक तरह की समाजसेवा ही है. फिल्में बनाना और राजनीति में आना बहुत आसान है, लेकिन दोनों में विजेता बनकर सामने आना बहुत मुश्किल है.”

रजनीकांत चाहते थे कि ‘लिंगा’ के निर्देशक के.एस. रवि कुमार इसे छह माह में पूरा कर लें.

रजनीकांत की ‘लिंगा’ 12 दिसंबर को रिलीज होगी. रजनीकांत ने कहा कि सभी चाहते हैं कि वे राजनीति में आये. अब आने वाला समय ही बताएगा कि रजनीकांत राजनीति में आते हैं कि नहीं तथा उसमें कितना सफल होते हैं.

उधर, फिल्मकार आमीर ने रविवार को सुपरस्टार रजनीकांत से राजनीति में आने का आग्रह किया, क्योंकि उनके प्रशंसक उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं. तमिल फिल्म ‘लिंगा’ का रविवार को ऑडियो लांच हुआ. इस दौरान आमीर आमंत्रित मुख्य अतिथियों में से एक थे.

आमीर ने यहां संवाददाताओं से कहा, “रजनी सर को राजनीति में आना चाहिए. उनके प्रशंसक उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं. हम सबको भरोसा है कि वह जल्द राजनीति में आएंगे.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!