फादर अलेक्सिस रिहा

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: आखिरकार तालिबान ने भारतीय नागरिक फादर अलेक्सिस प्रेमकुमार एंटोनीसामी को आठ माह बाद मुक्त मुक्त कर दिया. फादर अलेक्सिस इस समय भारतीय सुरक्षा में हैं तथा जल्द ही उन्हें उनके परिवार से मिला दिया जायेगा. तमिलनाडु के रहने वाले फादर अलेक्सिस की रिहाई के लिये जय ललिता ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रिहाई पर प्रसन्नता जाहिर की और फादर अलेक्सिस से बात की. विदेश मंत्रालय ने कहा कि अफगानिस्तान के हेरात प्रांत में 2 जून 2014 को 47 वर्षीय फादर अलेक्सिस का आतंकवादी तत्वों ने अपहरण कर लिया गया था. वे मुक्त हो गए हैं.

अपहरण के समय अलेक्सिस एक अंतर्राष्ट्रीय एनजीओ ईसाई शरणार्थी सेवा के साथ अफगानिस्तान में शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे थे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा है कि अलेक्सिस की मुक्ति के लिए भारत ने प्रयास किया था. प्रधानमंत्री सहित उच्चस्तर पर रिहाई का प्रयास हुआ.

बयान में कहा गया है, “हमारे एक नागरिक की रिहाई में मदद के लिए आठ माह से ज्यादा समय तक जिन लोगों ने अथक परिश्रम किया हम उन्हें हार्दिक आभार जताते हैं.”

प्रवक्ता ने कहा, “फादर अलेक्सिस प्रेमकुमार अब स्वदेश की सुरक्षा में आ गए हैं और उनके परिवार से शीघ्र मुलाकात की व्यवस्था की जा रही है.”

मोदी ने ट्वीट किया है, “भारतीय ईसाई पादरी फादर अलेक्सिस प्रेम कुमार की अपहर्ताओं के चंगुल से सुरक्षित रिहाई से खुशी हो रही है. फादर अलेक्सिस प्रेम कुमार से बात की है. आठ माह तक बंदी रहने के बाद सुरक्षित वापस लौटने पर उनके परिवार को सुखद सूचना दे दी है.”

अलेक्सिस के अपहरण के बाद जून 2014 में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता ने मोदी को उनकी सुरक्षित रिहाई में हस्तक्षेप करने के लिए लिखा था. अलेक्सिस तमिलनाडु के ही रहने वाले हैं.

मोदी ने आश्वासन दिया था कि पादरी की जल्द रिहाई सुनिश्चित कराने में ‘सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *