खनन पर मोदी के रुख से आप सहमत

पणजी | एजेंसी: आप ने सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी के उस टिप्पणी का स्वागत किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि गोवा के खदानों से निकलने वाले लौह अयस्कों का उपयोग देश में होना चाहिए. मोदी ने कहा था कि उसका निर्यात नहीं होना चाहिए.

गौरतलब है कि आप ने पणजी में कहा, “आम आदमी पार्टी की गोवा इकाई मोदी के उस बयान की प्रशंसा करती है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अपने प्राकृतिक संसाधनों को निर्यात कर दूसरे देशों की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने तक ही सीमित न करें, बल्कि लौह अयस्क को स्टील और अन्य उत्पादों में परिवर्तित किया जाए, ताकि लोगों को रोजगार मिले और हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत हो.”


शनिवार को गोवा के एकदिवसीय दौरे पर पहुंचे मोदी ने खनन पर यह टिप्पणी की थी. आप ने यह मांग भी की है कि राज्य के खनन उद्योग का राष्ट्रीयकरण किया जाना चाहिए और “निजी खनन कंपनियों के चंगुल से मुक्त कराया जाना चाहिए.”

आप ने कहा है कि राष्ट्रीयकरण से गोवा की अर्थव्यवस्था और यहां का पर्यावरण फिर से जिंदा हो जाएगा.

आप ने गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर राज्य के खनन माफियाओं के इशारों पर नाचने का आरोप लगाया और उन्हें सलाह दी कि लौह अयस्क के स्थानीय स्तर पर उपयोग के लिए मोदी द्वारा प्रस्तुत किए गए दृष्टिकोण का कड़ाई से पालन किया जाए.

सर्वोच्च न्यायालय ने दो साल पहले खनन पर 18 महीने के लिए रोक लगा दी थी. इसके पहले गोवा 5.5 करोड़ टन लौह अयस्क का निर्यात कर रहा था, खासतौर से चीन को. खनन पर प्रतिबंध अब खत्म हो चुका है. उम्मीद है राज्य सरकार द्वारा नीति बनाने के बाद यह फिर से शुरू हो जाएगा.

बहरहाल, आप प्रधानमंत्री मोदी के गोवा के खनन के मुद्दे पर दिये गये बयान से सहमति जताई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!