आप की रणनीति, केन्द्र से सहयोग

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: आम आदमी पार्टी केन्द्र सरकार के साथ टकराव से बचती हुई अपना काम करेगी. वहीं, दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने अपने कार्यकर्ताओं से अहंकार से बचने के लिये आगाह किया. आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को कहा कि वह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के साथ किसी तरह का तकरार नहीं करेगी, बल्कि उसके साथ हर कदम पर सहयोग करेगी. ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट से आप के उम्मीदवार सौरभ भारद्वाज ने कहा, “हमारी रणनीति केंद्र सरकार के साथ सहयोग करने की होगी.”

उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी और संयोजक अरविंद केजरीवाल ने चुनाव के लिए पूरी तैयारी की थी और जनता ने उन्हें इसलिए वोट दिया, क्योंकि वह मौजूदा व्यवस्था से तंग आ चुकी है और बदलाव चाहती है.

उन्होंने कहा, “हम जनता के साथ हैं.”

भारद्वाज से यह पूछे जाने पर कि पार्टी की इस भारी जीत की वजह क्या रही, उन्होंने कहा, “जनता ने हमारे 49 दिनों के शासन और केंद्र में भाजपा के आठ-नौ महीनों के शासन की तुलना की और उन्हें लगा कि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ एक विशेष वर्ग को खुश करने में लगी है, इसलिए उन्होंने हमें मौका देने का फैसला किया.”

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनावो में पार्टी को मिली ऐतिहासिक जीत के बाद पार्टी के सदस्यों को अहंकार न करने की हिदायत दी. दिल्ली विधानसभा चुनाव की मतगणना के रुझानों में आप की शानदार जीत के संकेतों को देखते हुए केजरीवाल ने दोपहर बाद अपने पहले सार्वजनिक संबोधन में इसे ‘सच्चाई व ईमानदारी’ की जीत बताया.

समर्थकों के ‘पांच साल केजरीवाल’ के नारों के बीच उन्होंने कहा, “यह जनता की जीत है..सच्चाई और ईमानदारी की जीत है. जब आप सच्चाई के रास्ते पर चलते हैं, तो वैश्विक ताकत भी आपकी मदद करती है.”

मध्य दिल्ली स्थित आप के दफ्तर में पार्टी के हजारों समर्थकों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि आप की सरकार इस तरह काम करेगी कि गरीब और अमीर, दोनों दिल्ली पर गर्व कर सकें.

केजरीवाल ने इसके बाद अपनी पत्नी सुनीता को भीड़ से परिचित कराया. इसी बीच, उत्साहित भीड़ से आवाज आई, ‘पांच साल केजरीवाल.’ उत्साहित समर्थकों ने पार्टी के झंडे व चुनाव चिह्न् झाड़ू हवा में लहराए.

भीड़ से सुनीता का परिचय कराते हुए केजरीवाल ने कहा, “यह मेरी पत्नी हैं. यदि इन्होंने मुझे सहयोग नहीं किया होता तो मैं कभी यह सब कर पाने में सफल नहीं होता.”

केजरीवाल ने जीत का श्रेय मतदाताओं और अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को दिया. साथ ही उन्होंने अपने समर्थकों को अहंकार न करने के लिए आगाह किया.

उन्होंने कहा, “भारतीय जनता पार्टी की हार उनके अहंकार की वजह से हुई है. यदि हम भी अहंकार करेंगे, तो जनता हमें भी ऐसा ही सबक सिखाएगी.”

केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से सहयोग की अपील करते हुए कहा, “मैं अकेला कुछ नहीं कर सकता. मैं बहुत छोटा आदमी हूं. यदि दिल्ली की दो करोड़ जनता साथ मिलकर काम करेगी, तो हम इसे ऐसा शहर बना सकते हैं, जिस पर गरीब और अमीर दोनों गर्व करेंगे.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *