दिल्ली में कौटिल्य मुंबई में शेयर लुढ़का

मुंबई | समाचार डेस्क: सदानंद गौड़ा के रेल बजट के भाषण के दौरान ही सेंसेक्स में गिरावट देखी गई. अपने रेल बजट के भाषण में सदानंद गौड़ा ने भारत के प्रसिद्ध कूटनीतिज्ञ और अर्थशास्त्री कौटिल्य के शब्दो को याद किया.

जिसमें कहा गया है कि “प्रजासुखे सुखं राज्ञ: प्रजानां च हिते हितम्.नात्‍मप्रियं हितं राज्ञ: प्रजानां तु प्रियं हितम्.जनता की खुशियों में शासक की खुशी निहित होती है.”


रेल मंत्री ने इसे हिन्दी में भी सदन के सामने प्रस्तुत किया “उनका कल्‍याण उसका कल्‍याण होता है, जिस बात से शासक को खुशी होती है वह उसे ठीक नहीं समझेगा परन्‍तु जिस किसी बात से जनता खुश होती है शासक उसे ठीक समझेगा.”

इसी के साथ सदानंद गौड़ा ने कहा कि “आपने ऐसे किसी व्‍यापार के बारे में नहीं सुना होगा, जिसका एकाधिकार हो,जिसका ग्राहक आधार लगभग 125 करोड़ हो,जिसकी 100 प्रतिशत बिक्री अग्रिम भुगतान पर होती हो,और उसके बावजूद उसके पास धन का अभाव हो.”

दिल्ली में संसद भवन में इन बातों के साथ रेल बजट पेश किया जा रहा था कि दूसरी ओर मुंबई में शेयर बाजार गिरने लगा. संसद में रेल बजट पेश होने के बाद मंगलवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स में 251.30 अंकों की गिरावट देखी गई.

अपराह्न् करीब दो बजे इसे 25,848.78 पर कारोबार करते देखा गया. सुबह के कारोबार में सेंसेक्स ने अपने अब तक के जीवन काल का उच्चतम स्तर 26,190.44 को छू लिया था. बाद में इसमें गिरावट देखी गई.

धातु, पूंजीगत वस्तु, तेल एवं गैस, वाहन और बैंकिंग सेक्टरों में गिरावट देखी गई.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी में भी 78.55 अंकों की गिरावट देखी गई. समाचार लिखे जाते वक्त यह 7,708.60 पर कारोबार कर रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!