उत्तरप्रदेश के 36 मंत्री बर्खास्त

लखनऊ | समाचार डेस्क: उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 36 मंत्रियों को बर्खास्त कर दिया है. अखिलेश सरकार के इस कदम के बाद से राज्य की राजनीति में सनसनी फैल गई. हालांकि बर्खास्त किये गये मंत्रियों में से किसी ने कोई टिप्पणी नहीं की है लेकिन अखिलेश सरकार की इस सर्जरी ने चैन की नींद सोने वाले मंत्रियों की नींद उड़ा दी है.

अखिलेश सिंह ने प्रारंभिक तौर पर अभी 36 लोगों पर हार की जिम्मेदारी तय कर उनसे दर्जा प्राप्त मंत्री का ओहदा वापस ले लिया है. पार्टी ने नोएडा के चर्चित नरेन्द्र भाटी, आशु मलिक, अनुराधा चौधरी, राजा चतुर्वेदी, सुरेन्द्र मोहन अग्रवाल, संदीप बंसल, केसी पाण्डेय, अनीस मंसूरी, सुरभि शुक्ला, सतीश दीक्षित, कमलेश पाठक, विद्यावती राजभर, सचिन पति गुप्ता, ओमवीर तोमर, कमरुद्दीन, रीबू श्रीवास्तव, राकेश यादव, राम सिंह राणा, रंजना बाजपेई, साहब सिंह सैनी, लीलावती कुशवाहा, राम बाबू, अंजला माहौर, बहादुर सिंह, मनोज राय, इंदु प्रकाश मिश्रा, इकबाल अली, सतेन्द्र उपाध्याय, हाजी इकराम, जगदीप यादव, मोहम्मद अब्बास, वीरेन्द्र सिंह, केपी सिंह चौहान, कुलदीप उज्जवल व जगदीश यादव से राज्य मंत्री का ओहदा ले लिया गया है.


माना जा रहा है कि अखिलेश सिंह आने वाले दिनों में कुछ और कड़े कदम उठा सकते हैं. अखिलेश यादव की सरकार में कुछ प्रशासनिक अधिकारियों पर भी सवाल उठे हैं, उन्हें भी इधर से उधर किया जा सकता है. इससे पहले मुलायम सिंह यादव बोल चुके हैं कि जब मंत्री कमाई कर रहे हों तो लोकसभा का चुनाव तो हारना ही था. इस संदेश के बाद से ही किसी कड़ी कार्रवाई की उम्मीद जताई जा रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!