तेलंगाना पर सभी दल सहमत थे: दिग्विजय

नई दिल्ली | एजेंसी: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने पृथक तेलंगाना को लेकर जारी विरोध प्रदर्शनों के मसले पर कहा है कि तेलंगाना गठन के मुद्दे पर सभी दलों की सहमति थी और राज्य के विभाजन के लिए सबने मंजूरी दे दी थी.

आंध्र प्रदेश में कांग्रेस के प्रभारी सिंह ने कहा, “केंद्र सरकार ने सभी दलों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद ही यह फैसला लिया था. जब सभी दलों ने लिखित रूप से अपनी सहमति दी तभी पृथक तेलंगाना के गठन का फैसला लिया गया.”

दिल्ली में आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं तेलुगू देशम पार्टी के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू के प्रदर्शन को लेकर सिंह ने कहा कि वह उनका सम्मान करते हैं, लेकिन यदि लिखित रूप से अपनी मंजूरी देने के बाद भी वह पीछे हट रहे हैं, तब क्या किया जा सकता है.

सिंह ने वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख वाई. एस. जगनमोहन रेड्डी के बारे में भी मिलती-जुलती राय दी. उन्होंने कहा, “जगनमोहन रेड्डी मेरे बेटे समान हैं. उनके पिता मेरे बहुत अच्छे मित्र थे. तेलंगाना मुद्दे पर अपना समर्थन देने के बाद अब वह कदम वापस ले रहे हैं, तो हम क्या कर सकते हैं.”

केंद्र सरकार ने मंगलवार को मंत्रियों के सात सदस्यीय समूह का गठन किया जो आंध्र प्रदेश से तेलंगाना को पृथक किए जाने से संबंधित मुद्दों पर गौर करेगा. समूह दोनों राज्यों के बीच वित्तीय संपत्ति, पानी, बिजली और शासकीय कर्मचारियों जैसे संसाधनों के बंटवारे के मुद्दे को देखेगा.

उल्लेखनीय है कि जगनमोहन रेड्डी पृथक तेलंगाना गठन के फैसले के खिलाफ अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *