इलाहाबाद विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा बिलासपुर में

इलाहाबाद | संवाददाता: इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने अपने पाठ्यक्रमों में अनुसूचित जाति (अजा) के छात्रों की अपर्याप्त संख्या को देखते हुए बिलासपुर में भी प्रवेश परीक्षा कराने का निर्णय लिया है. अब बिलासपुर में इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा संचालित स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों हेतु प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी.

इस बाबत जानकारी देते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता (प्रवेश) प्रो. बी.एन.सिंह ने बताया कि, “इलाहाबाद विश्वविद्यालय कई सालों से अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए आरक्षित सीटें भर नहीं पा रहा है और चूंकि छत्तीसगढ़ में आदिवासीयों की जनसंख्या काफी है हमने बिलासपुर को अपने बाहरी परीक्षा केंद्र के रूप में चुना है. इसके अलावा भी बिलासपुर छत्तीसगढ़ राज्य के शिक्षा केंद्र के रूप में जाना जाता है इसीलिए हमने इसी का चयन किया”.

श्री सिंह ने कहा कि बाहरी परीक्षा केंद्र का चयन करते वक्त उनके पास बिलासपुर या भुवनेश्वर में से किसी एक को चुनना था और चूंकि उत्तरप्रदेश के कई इलाकों के रहने वाले लोग बिलासपुर के नजदीकी शहरों जैसे रायपुर, दुर्ग, भिलाई में आकर रहने लगे हैं इसीलिए इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा बिलासपुर का ही चयन किया गया.

गौरतलब है कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सभी पाठ्यक्रमों में अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए 7.5 फीसदी आरक्षण हैं. अब इन पाठ्यक्रमों के लिए इलाहाबाद, पटना, बरेली, भोपाल, वाराणसी, गोरखपुर, नई दिल्ली और दो नए परीक्षा केंद्रों बिलासपुर और लखनऊ में प्रवेश परीक्षाएं होंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *