गढ़ ममता में अमित शाह की चुनौती

कोलकाता | विशेष संवाददाता: ममता बनर्जी के गढ़ कोलकाता में भाजपा ने अमित शाह के माध्यम से चुनौती पेश की है. रविवार को कोलकाता के धर्मतल्ला के विक्टोरिया हाउस के बाजू में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की जनसभा हुई. गौरतलब रहे कि कोलकाता उच्च न्यायालय के आदेश के बाद अमित शाह को इस जनसभा की मंजूरी मिली. वहीं, भाजपा ने पश्चिम बंगाल के सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के जनसभा को रोकने का आरोप लगाया. अमित शाह ने रविवार की जनसभा में ममता बनर्जी के सारे गड़े मुर्दे उखाड़कर रख दिये. उन्होंने ममता बनर्जी पर शारदा घोटाले में फंसे लोगों को बचाने का आरोप लगाया. अमित शाह ने बर्द्धमान बम कांड के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया.

उल्लेखनीय है ममता बनर्जी ने पश्चिंम बंगाल में वामपंथियों के तीन दशक से भी ज्यादा पुराने गठबंधन को सत्ता से दूर करके अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्रप्त की थी परन्तु शारदा घोटाले के सामने आने तथा उसमें तृणमूल कांग्रेस के सांसद के शामिल होने के आरोप से ममता बनर्जी के सारे तेवर ढ़ीले पड़ गये हैं.

खबर तो यह भी है कि ममता बनर्जी ने वामपंथियों से भाजपा के खिलाफ एकजुड होने के लिये अपील की थी जिसे वामपंथियों ने अस्वीकार कर दिया.

वास्तव में ममता बनर्जी को पश्चिम बंगाल में 2016 में होने वाले विधानसभा चुनाव का भूत सता रहा है. इस बार के लोकसभा चुनावों में भाजपा को मिले मतो का प्रतिशत बढ़ा है तथा भाजपा ने उप चुनावों में कमाल ही कर दिया. जाहिर है कि इतने जद्दोजहद के बाद मिली बंगाल की सत्ता को ममता यूं ही नहीं गवांना चाहती है. उधर, अमित शाह हैं कि उन्होंने ममता बनर्जी पर लोटा-कंबल लेकर राजनीतिक हमंला तेज कर दिया है.

पिछले विधानसभा चुनाव के पहले वामपंथियों को ममता का डर सता रहा था इस बार डरने की बारी ममता बनर्जी की है. रविवार के जनसभा में भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, “यहां पर उद्योगों के लिए सही माहौल तक नहीं है. यदि यहां की जनता अपने मन में ठान ले कि राज्य में भाजपा को लाना है तो हम इस राज्य को पूर्व का नंबर वन राज्य बना देंगे.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *