अन्ना का केजरीवाल पर हमला

नई दिल्ली | एजेंसी: अन्ना हजारे ने अरविंद केजरीवाल पर अपना हमला जारी रखा है. सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने अपने पूर्व सहयोगी अरविंद केजरीवाल पर बुधवार को भी इस बात पर दबाव जारी रखा कि आम आदमी पार्टी नेता अपने राजनीतिक लाभ के लिए दिल्ली विधानसभा चुनाव में उनके नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं. इसके साथ ही अन्ना ने इस बात से साफ इनकार किया कि उन्होंने केजरीवाल पर धन का गबन करने का आरोप लगाया है. हजारे ने कहा, “मौजूदा मुद्दा सिम कार्ड का है जो उन्होंने मेरे नाम पर बेचा है. मेरा इससे लेनादेना नहीं है.”

उन्होंने कहा कि किसी ने एक अदालत में सिम कार्डो को लेकर अर्जी दायर कर दी है.


अन्ना की यह टिप्पणी केजरीवाल के साथ वर्ष 2011 के दौरान दिल्ली के रामलीला मैदान में 12 दिनों तक चले अन्ना के उपवास के दौरान इंडिया अगेंस्ट करप्शन आंदोलन के लिए जमा हुए चंदे पर विवाद पैदा होने के एक दिन बाद आया है.

अन्ना ने बुधवार को कहा, “उन्होंने ऐसा कभी नहीं कहा कि अरविंद केजरीवाल भ्रष्ट है या धन का गबन किया है.”

अन्ना ने संवाददाताओं से कहा, “यदि कोई कह रहा है कि अरविंद केजरीवाल और अन्ना हजारे के बीच लड़ाई चल रही है तो यह गलत है. मैंने कभी नहीं कहा कि केजरीवाल भ्रष्ट हैं.”

अन्ना हजारे और आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल के बीच जबानी जंग को कांग्रेस ने ‘गुरु-चेला’ का मामला करार देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने बुधवार को गोवा की राजधानी पणजी में कहा कि बड़ी चुनावी लड़ाई में यह ‘प्रहसन’ के जैसा है और इससे कांग्रेस को क्या लेना-देना है. यह महज एक प्रहसन है.

उधर अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को इस बात से इनकार किया कि वे चुनाव में प्रचार के दौरान अन्ना हजारे के नाम का दुरुपयोग कर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि अन्ना को बरगलाने की साजिश चल रही है.

केजरीवाल ने कहा, “अन्ना ने कल कहा कि कुछ लोगों ने उन्हें ऐसे पोस्टर दिखाए, जिसपर उनकी तस्वीर है और उसे आप इस्तेमाल कर रही है. हमने अन्ना को बताया कि पोस्टर असली नहीं था.”

केजरीवाल ने कहा, “इसका मतलब है कि फर्जी पोस्टर छापे गए. अन्ना को हमारे खिलाफ भड़काने की साजिश रची गई है.”

केजरीवाल ने यह भी कहा कि आप अपने चुनाव प्रचार के दौरान अन्ना का नाम नहीं ले रही है.

केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, “जब मैं कहता हूं कि अन्ना हजारे ने जनलोकपाल के लिए अनशन किया तो यह एक ऐतिहासिक सच्चाई है. जनता जनलोकपाल नहीं समझती, इसलिए मैं कहता हूं कि अन्ना का लोकपाल विधेयक. मैं हमेशा कहता हूं कि यह अन्ना की पार्टी नहीं है. यदि इस पर भी उन्हें आपत्ति है, तो मैं ‘अन्ना का लोकपाल’ शब्द का भी प्रयोग नहीं करूंगा.”

केजरीवाल ने कहा कि आप को कई निहित स्वार्थी लोग निशाना बना रहे हैं. उन्होंने कहा, “हमने सभी ताकतवर लोगों को चुनौती दी है. यहां कई सारे निहित स्वार्थी लोग हैं जो हमें बदनाम करने में जुटे हुए हैं. दो-तीन दिनों में और ऐसे लोग सामने आएंगे.”

केजरीवाल ने कहा, “मनीष सिसोदिया, प्रशांत भूषण सभी को निशाना बनाया जाएगा.”

केजरीवाल ने कहा, “मैंने अपने जीवन में ईमानदारी कमाई है और जब मेरे गुरु मेरे ऊपर सवाल उठाते हैं तो मुझे दुख होता है. यदि कोई गड़बड़ी हुई है, तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा.”

यह पूछे जाने पर कि क्या वह अन्ना से बात करेंगे, केजरीवाल ने कहा कि उन्हें बात नहीं करने दिया जा रहा है. उन्होंने कहा, “अन्ना से मैं कैसे बात करूं, कोई उन्हें फोन ही नहीं देता.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!