अरब लीग चाहे सुरक्षा परिषद की अनुमति

संयुक्त राष्ट्र | एजेंसी: अरब लीग ने सीरिया पर सैन्य कार्यवाही से पहले सुरक्षा परिषद की इजाजत लेने की बात कही है. संयुक्त राष्ट्र में अरब लीग के विशेष प्रतिनिधि लखदर ब्राहिमी ने कहा कि किसी भी देश को कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा और सीरिया पर किसी तरह की कार्रवाई पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का सामना करना पड़ेगा.

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता मार्टिन नसिर्के ने बताया कि ब्राहिमी का यह बयान सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के साथ शुक्रवार को हुई बैठक के दौरान आया है. कुछ देशों की संभावित सैन्य कार्रवाई पर ब्राहिमी ने कहा, “अंतर्राष्ट्रीय कानून के मुताबिक किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं है, उन्हें सुरक्षा परिषद का सामना करना पड़ेगा.”

उन्होंने कहा कि वह और अन्य राजनयिक सीरिया की जनता की मदद के लिए राजनीतिक राह ढूंढने के मद्देनजर गृह युद्ध झेल रहे इस देश और अन्य संबंधित देशों को सम्मेलन के लिए साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र जेनेवा के द्वितीय चरण की बैठक के लिए सक्रिय रूप से तैयारी कर रहा है, जिसमें सीरिया के राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि व अमेरिका, रूस और संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी शामिल होंगे.

यह जगजाहिर है कि अमरीका ऐन केन प्रकारेण सीरिया पर सैन्य कार्यवाही चाहता है. जिससे रूस, चीन जैसे देश सहमत नही हैं. अब इस कड़ी में अरब लीग भी खुलकर आ गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *