अफगानिस्तान की बांग्लादेश पर ऐतिहासिक जीत

फातुल्ला | एजेंसी: कप्तान मोहम्मद नबी (44-3) के नेतृत्व में अफगानिस्तान के गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए खान साहेब उस्मान अली स्टेडियम में खेले गए एशिया कप के अपने दूसरे मुकाबले में शनिवार को बांग्लादेश को 32 रनों से हरा दिया. टेस्ट खेलने वाली किसी टीम के खिलाफ अफगानिस्तान की यह पहली और कुल 17वीं जीत है.

अफगानिस्तान की जीत में असगर स्तानिकजई (नाबाद 90) और समीउल्लाह शेनवारी (81) की भी बहुत अहम भूमिका रही है. शेनवारी ने बाद में गेंदबाजी करते हुए विकेट भी लिया और इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच पुरस्कार मिला.


शेनवारी और असगर के बीच हुई शतकीय साझेदारी की बदौलत अफगानिस्तान ने बांग्लादेश के सामने 255 रनों का लक्ष्य रखा, जिसका पीछा करते हुए बांग्लादेश टीम 47. 5 ओवरों में 222 रन ही बना की.

सलामी बल्लेबाजों के नाकाम होने के बाद मध्यक्रम में मोमिनुल हक (50), नासिर हुसैन (41), नईम इस्लाम (35) और जियाउर रहमान (41) ने उपयोगी पारियां खेलीं लेकिन अफगान गेंदबाजों ने अपने अनुशासित प्रदर्शन के आगे इस टीम को लक्ष्य तक नहीं पहुंचने दिया.

अफगानिस्तान की ओर से शापूर जादरान और हामिद हसन ने दो-दो विकेट लिए जबकि शेनवारी और मीरवाइस अशरफ को एक-एक सफलता मिली.

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी अफगान टीम ने एक समय 90 रन के कुल योग पर पांच विकेट गंवा दिए थे लेकिन शेनवारी और असगर ने छठे विकेट के लिए 164 रन जोड़कर टीम को निर्धारित 50 ओवरों में 6 विकेट पर 254 रन बनाने में मदद की.

असगर ने अपनी 103 गेंदों की पारी में छह चौके और तीन छक्के लगाए जबकि 254 के कुल योग पर रन आउट होने वाले शेनवारी ने 69 गेंदों पर 10 चौके और एक छक्का जड़ा.

अफगानिस्तान ने मोहम्मद शहजाद (2), करीम सादिक (12), नजीबुल्लाह जदरान (21), नवरोज मंगल (24) और कप्तान मोहम्मद नबी (7) के विकेट जल्दी गंवा दिए थे.

बांग्लादेश की ओर से अराफात सनी ने 44 रन देकर सबसे अधिक दो विकेट लिए. रुबेल हुसैन और मोमिनुल हक को एक-एक सफलता मिली.

दोनों टीमों का यह दूसरा मैच था. बांग्लादेश को भारत के खिलाफ पहले मैच में हार मिली थी जबकि अफगान टीम को पाकिस्तान ने हराया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!