तुर्की में तख्तापलट की कोशिश

अंकारा | समाचार डेस्क: तुर्की के राष्ट्रपति ने दावा किया है वहां तख्तापलट की कोशिश नाकाम कर दी गई है. तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एरदोगन ने ‘फेसटाइम’ के जरिए देश को संबोधित करते हुए कहा कि वह अभी भी राष्ट्रपति पद पर बने हुए हैं. उन्होंने विपक्षी बलों को ध्वस्त करने की प्रतिबद्धता जताई. एरदोगन ने वीडियो संदेश में कहा, “मैं देश की जनता से सड़कों पर उतरने का आह्वान कर रहा हूं. आओ, इन्हें सबक सीखाएं. मुझे नहीं लगता कि तख्तापलट की यह कोशिश सफल होगी. इतिहास में तख्तापलट की कोई भी साजिश सफल नहीं हुई.”

President Erdogan Appears On State Television Via FaceTime

तुर्की की राजधानी अंकारा में सैन्य तख्तापलट की कोशिश के दौरान रातभर हुए संघर्षो में 60 लोगों की मौत हो गई है. तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एरदोगन ने शनिवार को इस्तांबुल के अतातुर्क हवाईअड्डे पर उतरने के बाद कहा कि वह तुर्की के मनमारिस के जिस रिजॉर्ट में रूके थे. उनके रिसॉर्ट छोड़ने के बाद वहां बम से हमला किया गया.

उन्होंने देश में चल रहे तख्तापलट के प्रयासों के लिए तुर्की के इस्लामिक धर्मप्रचारक फेतुल्लाह गुलेन को जिम्मेदार ठहराया.

एरदोगन ने पार्टी के महासचिव के अपहरण का खुलासा करते हुए विद्रोहियों से पूछा “तुम लोग महासचिव के साथ क्या करने वाले हो?”

‘बीबीसी’ की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री बिनाली यिलदिरीम का कहना है कि स्थिति पर काफी हद तक नियंत्रण पा लिया गया है और अभी तक 130 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

उन्होंने सेना से तख्तापलट के लिए इस्तेमाल में लाए जा रहे विमानों को मार गिराने के आदेश दिए हैं.

इससे पहले, अंकारा में तख्तापलट के लिए इस्तेमाल में लाए जा रहे हेलीकॉप्टर को मार गिराया जा चुका है.

अंकारा में विमानों और हेलीकॉप्टर के संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

‘बीबीसी’ के मुताबिक, अभी तक सेना प्रमुख के बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है. अभी भी कई शहरों से भारी गोलीबारी हो रही है.

‘सीएनएन’ के मुताबिक, इस्तांबुल के अतातुर्क हवाईअड्डे को दोबारा खोल दिया गया है और समाचार चैनलों ने भी दोबारा प्रसारण शुरू कर दिया है.

गौरतलब है कि शुक्रवार रात को सेना के एक समूह ने समाचर चैनलों का प्रसारण बंद करवा दिया था.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *