चीनी सामानों का बहिष्कार करें- रामदेव

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: बाबा रामदेव ने भारतीयों से चीनी सामानों का इस्तेमाल बंद करने की अपील की है. उन्होंने पत्रकारों से कहा चीनी सामानों की खरीद बंद करके ही उस पर नियंत्रण किया जा सकता है. उन्होंने चीनी सामानों की खरीद की तुलना देश के दुश्मन की मदद करने से की है.

बाबा रामदेव ने कहा, “चीन की वस्तुओं का पूरे देश को बहिष्कार करना चाहिये क्योंकि जिस तरह से चीन हरकतें कर रहा है उससे राष्ट्र की एकता अखंडता और संप्रभुता को ख़तरा है.”


उन्होंने आगे कहा, “दीवाली से लेकर सभी त्यौहारों पर, यहां तक कि हमारे घर में राम, कृष्ण, हनुमान और गणेश जी की भी मूर्तियां चीन से आ रही हैं.”

बाबा रामदेव ने कहा, “हमारे घरों में जो दीवाली पर लाइट जलती है वो भी चीन की आ गई है.”

जानकारों का कहना है कि चीन से पूरी दुनिया में जो निर्यात होता है उसका मात्र 3 फीसदी ही भारत में आता है. परन्तु भारत में सालभर में कुल जितना आयात होता है उसका 16 फीसदी से भी ज्यादा चीन से आता है.

केन्द्र सरकार के आकड़ों के अऩुसार भारत में सबसे ज्यादा सामान चीन से आयात किया जाता है. कहने का तात्पर्य यह है कि भारत में जितना आयात किया जाता है उसमें सबसे ज्यादा हिस्सेदारी चीन में बने सामानों की होती है.

साल 2014-15 में भारत के कुल आयात में चीन की हिस्सेदारी 13.5021 फीसदी थी जो साल 2015-16 में बढ़कर 16.2247 फीसदी की हो गई. जाहिर है कि मोदी सरकार के समय में चीन से भारत में आयात बढ़ा है. कम से कम केन्द्र सरकार के वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आकड़े तो यही कहते हैं.

उल्लेखनीय है कि बाबा रामदेव को देश में अत्यंत सम्मान की नज़र से देखा जाता है. उन्होंने ही योग को पूरे भारत में आंदोलन के रूप में पेश किया. उसी के बाद से लोगों में योग के प्रति लोगों में विश्वास बढ़ा है. इतना ही नहीं बाबा रामदेव के योग को विदेशों में भी अत्यंत लोकप्रियता मिली है.

बाबा रामदेव ने लोगों को योग सिखाने के साथ-साथ देसी उत्पादों का भी विकल्प दिया है. उन्होंने सबसे पहले आयुर्वेदिक दवाईयां बनानी शुरु की. उसके बाद धीरे-धीरे उनके पतंजलि का कारोबार बढ़ता गया. अब तो उनके यहां बिस्कुट, आटा, घी, शहद, नूडल्स, दंत मंजन, महिलाओं के सौदर्य के क्रीम-साबुन-तेल बिकने लगे हैं.

देशभऱ में बकायदा पतंजलि के स्टोर खुल गये हैं. जहां इनके अलावा भी बर्तन धोने के साबुन, केश कांति तेल, गुलाब जल तक मिलते हैं. खबरों के अनुसार जल्द ही पतंजलि का जीन्स भी बाजार में आने वाला है.

हालांकि, अभी पतंजलि द्वारा फटाखे या इलेक्ट्रानिक्स के सामान बनाने की कोई योजना सतह पर नहीं आई है, परन्तु माना जा रहा है कि आने वाले समय में पतंजलि और कई उत्पादों के साथ बाजार में नज़र आयेगा.

2 thoughts on “चीनी सामानों का बहिष्कार करें- रामदेव

  • October 18, 2016 at 12:14
    Permalink

    बांकी सब ठीक होगा लेकिन यह लिखना थोड़ा ज्यादा है कि रामदेव को लेश में बड़े सम्मान से देखा जाता है ,एसे लोगभी कम नहीं है जो रामदेव को ढोंगी और धूर्त मानते है ।

    Reply
  • Pingback: पतंजलि के सैंपल फेल, 11 लाख जुर्माना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!