बालचंदर ने महिला-केंद्रित फिल्में बनाईं

चेन्नई | मनोरंजन डेस्क: तमिल फिल्म निर्देशक के. बालचंदर के निधन से तमिलनाडु के गाजनेता भी दुखी हैं. एआईएडीएमके की महासचिव जे. जयललिता ने विख्यात तमिल फिल्म निर्देशक के. बालचंदर के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि उन्होंने महिला-केंद्रित फिल्में बनाईं और उनकी समस्याओं को सामने लेकर आए. बालचंदर ने मंगलवार को अंतिम सांस ली. वह पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती थे. जयललिता ने उनके निधन पर शोक जताते हुए एक बयान में कहा कि दिग्गज बालचंदर ने हिंदी, तेलुगू और कन्नड़ फिल्मों में भी अपनी पहचान बनाई.

उन्होंने कहा कि बालचंदर ने ‘नीरकुमिझी’, ‘मेजर चंद्रकांत’, ‘एथिर नीचल’, ‘नानल’ और ‘विनोद ओप्पंदम’ जैसे लोकप्रिय नाटकों का मंचन भी किया.


जयललिता ने कहा कि बालचंदर का निधन फिल्म जगत के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है और उनकी कमी को कोई और पूरा नहीं कर सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!