आ रहें हैं ओबामा-मिशेल

नई दिल्ली | एजेंसी: गणतंत्र दिवस परेड में शिरकत करने ओबामा-मिशेल भारत आ रहें हैं. अमरीकी राष्ट्रपति का यह भारत दौरा रणनीति के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण है. खासकर ऐसे समय में जब दुनिया आतंकवाद से जूझ रही है तथा भारतीय सीमा पर पाक घुसपैठ जारी है. अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा 25 जनवरी को अपनी पत्नी मिशेल ओबामा के साथ तीन दिवसीय भारत दौरे पर भारत पहुंचेंगे. ओबामा की यह यात्रा किसी अमरीकी राष्ट्रपति की भारतीय गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के तौर पर पहली यात्रा है और उनकी इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा, ऊर्जा, शिक्षा और कारोबार के मुद्दों पर ‘ठोस परिणाम’ देने वाली वार्ता होने की उम्मीदें हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर आ रहे ओबामा अमरीकी वायु सेना के विमान से रविवार को सुबह 10.0 बजे राष्ट्रीय राजधानी पहुंचेंगे और अपनी यात्रा के दौरान अनेक कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे. ओबामा की यात्रा आगरा के ताज महल की सैर के साथ समाप्त होगी.

मोदी के पिछले साल वाशिंगटन दौरे के बाद ओबामा के इस दौरे को गुरुवार को दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों में नवशक्ति का गुणात्मक संचार करने वाला करार दिया गया.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरूद्दीन ने कहा, “राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा को हम हमारे संबंधों की मजबूती के रूप में देखते हैं.”

ओबामा शासनकाल में भारत का दो बार दौरा करने वाले व गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनने वाले अमरीका के पहले राष्ट्रपति होंगे.

बिजली मंत्री पीयूष गोयल उनके मिनिस्टर-इन-वेटिंग होंगे.

हालांकि यह बात अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाई है कि ओबामा की अगवानी करने प्रधानमंत्री खुद हवाईअड्डा जाएंगे या नहीं.

यह सवाल पूछने पर कि क्या राष्ट्रपति की अगवानी के लिए प्रधानमंत्री खुद हवाईअड्डा जाएंगे, प्रवक्ता ने कहा कि प्रोटोकॉल के तहत मिनिस्टर-इन-वेटिंग तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उनकी अगवानी के लिए जा रहे हैं.

रविवार सुबह दिल्ली पहुंचने के बाद ओबामा राष्ट्रपति भवन में एक स्वागत समारोह में शामिल होंगे, जिसके बाद वह भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करने राजघाट जाएंगे.

इसके बाद वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ राष्ट्रीय राजधानी स्थित ‘हैदराबाद हाउस’ में एक द्विपक्षीय बैठक में हिस्सा लेंगे. मध्याह्न भोजन के बाद वह एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे.

बैठक के दौरान व्यापार माहौल, व्यापार व निवेश, जलवायु परिवर्तन एवं ऊर्जा, रक्षा व सुरक्षा सहयोग, क्षेत्रीय वैश्विक मुद्दों, अफगानिस्तान तथा आतंकवाद सहित कई मुद्दों पर चर्चा होगी.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी रविवार शाम बराक ओबामा के सम्मान में एक प्रीतिभोज की मेजबानी करेंगे.

इस प्रीतिभोज उत्सव में उद्योगपति मुकेश और अनिल अंबानी, अभिनेता अमिताभ बच्चन और क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के अलावा टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, और तीन सेनाओं के प्रमुखों को भी निमंत्रण दिया गया है.

26 जनवरी मतलब सोमवार सुबह वह प्रणब मुखर्जी व मोदी के साथ गणतंत्र दिवस का परेड देखेंगे और इसके बाद वह संबंधित कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे.

ओबामा व मोदी शीर्ष कारोबारियों के साथ सोमवार शाम एक गोलमेज सम्मेलन करेंगे, जिसके बाद वे अमरीकी तथा भारतीय कारोबारी समुदाय को संयुक्त तौर पर संबोधित करेंगे.

यात्रा के अंतिम दिन यानी मंगलवार को ओबामा ‘भारत एवं अमरीका : द फ्यूचर वी कैन बिल्ड टुगेदर’ विषय पर एक सार्वजनिक भाषण देंगे.

वापस अमरीका जाने के पहले वह ताजमहल का दीदार करने आगरा जाएंगे. ओबामा व उनकी पत्नी मिशेल ने साल 2011 में भारत के पिछले दौरे के दौरान मुंबई व दिल्ली की यात्रा की थी.

अकबरूद्दीन ने कहा, “बीते चार महीनों में हमारे बीच चार वार्ताएं हुई हैं. सितंबर 2014 में प्रधानमंत्री के अमेरिका दौरे के बाद राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे से हमारे संबंधों में नवशक्ति का संचार होगा.”

प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय व अमरीकी वार्ताकार परमाणु दायित्व मुद्दों पर सहयोगी तरीके से काम कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, “वर्तमान में वार्ता लंदन में हो रही है. यह तीसरी बार है, जब संपर्क समूह बीते चार महीनों बाद बैठक कर रहे हैं. इससे पहले बैठक विएना में हुई है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *