भारत-चीन के भविष्य को लेकर जिनपिंग आश्वस्त

बीजिंग | समाचार डेस्क: अमरीका से भारत के बढ़ते रणनीतिक सहयोग के बावजूद, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत-चीन के रिश्ते के भविष्य को लेकर आश्वस्त हैं. शी जिनपिंग ने सोमवार को भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात के समय यह बात कही. उल्लेखनीय है कि सुषमा स्वराज इन दिनों चीन की आधिकारित यात्रा पर है तथा मई माह में प्रधानमंत्री मोदी की चीन यात्रा के पहले उसकी तैयारी के लिये चीन गई हुई हैं.

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सोमवार को भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की और मौजूदा वर्ष में दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों में मजबूती का विश्वास जताया. सुषमा और शी की मुलाकात ग्रेट हॉल ऑफ प्यूपिल में हुई, जहां पर दोनों देशों के बीच मौजूदा वर्ष में सकारात्मक द्विपक्षीय एजेंडों पर ध्यान केंद्रित करने की सहमति बनी.


जिनपिंग ने कहा, “पिछले साल सितंबर में मेरी भारत यात्रा से चीन-भारत संबंध एक नए युग में प्रवेश कर चुका है. भारत और चीन के रिश्तों में सकारात्मकता बढ़ती जा रही है.”

उन्होंने कहा कि उनकी भारत यात्रा के दौरान किए गए समझौतों को लागू करने के लिए बड़े कदम उठाए जा रहे हैं.

उन्होंने कहा, “मैं भारत और चीन के बीच रिश्तों के भविष्य को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हूं. मेरा मानना है कि अच्छी कार्यविधि से ही द्विपक्षीय रिश्तों में मजबूती हासिल हो सकेगी.”

जिनपिंग ने अपनी अहमदाबाद यात्रा को भी याद किया. अहमदाबाद में साबरमती नदी के तट पर प्रधानमंत्री मोदी ने उनका स्वागत सत्कार किया था.

उन्होंने कहा, “मेरे दिमाग में अभी भी सरकार और वहां के लोगों के आतिथ्य सत्कार की यादें ताजा हैं और मैंने उन्हें संजोकर रखा है. विशेष रूप से प्रधानमंत्री मोदी के गृहराज्य गुजरात के दौरे की यादें अभी तक ताजा हैं.”

चीनी राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना नमस्कार और अभिवादन भेजा.

स्वराज ने शी जिंनपिंग को चीन के नए वर्ष पर मोदी की तरफ से बधाई दी.

सुषमा अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे के कुछ दिनों बाद बीजिंग दौरे पर गई हैं. ओबामा के दौरे पर दोनों देशों ने एशिया-प्रशांत और हिंद महासागर के लिए संयुक्त सामरिक दृष्टिकोण घोषित किए थे.

सुषमा की यात्रा का मुख्य उद्देश्य मई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा के पहले आधार बनाना है.

सुषमा ने रविवार को दूसरे भारत-चीन मीडिया शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया. उन्होंने अपने चीनी समकक्ष बांग यी से मोदी के आगामी दौरे सहित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की.

विदेश मंत्री ने श्रद्धालुओं के लिए नाथूला द्वारा कैलाश मानसरोवर यात्रा का एक अतिरिक्त रास्ता खोलने के फैसले पर चीन की सराहना की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!