मिस्र की मेहमानवाज़ी ‘अनूठी’: बिग ‘बी’

काहिरा | मनोरंजन डेस्क: नील नदी के किनारे बसे दुनिया के 5000 साल पुरानी सभ्यता वाले देश मिस्त्र में मिले प्यार से अमिताभ अभिभूत हो गयें हैं. अमिताभ यहां ‘इंडिया बाइ द नील’ का उद्गाटन करने पहुंचे हैं परन्तु मिस्त्र की प्रचीन सभ्यता में खो गये हैं. ‘पिरामिड’ वाले देश मिस्त्र के लोग भी ‘ताजमहल’ वाले देश भारत के महानायक का स्वागत करने में जुड गये हैं. मिस्र की राजधानी काहिरा में सोमवार को ‘इंडिया बाइ द नील’ फिल्मोत्सव का उद्घाटन करने पहुंचे महानायक अमिताभ बच्चन के दिलोदिमाग पर यहां के लोगों की मेहमानवाजी ने अमिट छाप छोड़ी है. अमिताभ ने अपने इस अनुभव के बारे में अपने आधिकारिक ब्लॉग ‘एसआरबच्चन डॉट टंब्लर डॉट कॉम’ पर लिखा @srbachchan “To gather 5000 years of history and existence in just two short days is not a mammoth task, its an impossibility. I live in impossibility, in wonder in awe and in humble appreciation of what comes my way, by love, by attention, and the overflowing affection from the people of Egypt ….Its more than coming home .. it is HOME .. ! A smile of permanence, a welcome word at every step, a warmth so rare in these times and in places .. and all for just a touch an embrace … a ‘selfie’ ..”

उन्होंने लिखा, “मैं बीते कई वर्षो में चौथी दफा काहिरा लौटा हूं. यह फिल्मों में मेरे करियर को दर्शाता है. अब भी ऐसा लगता है कि जैसे मैं घर आया हूं. इस देश के लोगों की मुस्कान और उनके स्वागत का तरीका दिल छूने वाला है.”


बिग बी ने लिखा, “उनकी मेहमानवाजी और सिनेमा के प्रति उनके प्यार ने मुझे उनसे रूबरू कराया. यह सब तुलना से परे है. यह एक ही परिवार के भाइयों का मिलना, एकजुट होना और एक-दूसरे के प्रति प्यार व प्रशंसा का इजहार करने जैसा है. यह काफी अनोखा है.”

उन्होंने कहा कि मुझे बताया गया कि यहां विदेशी फिल्मों के प्रदर्शन को लेकर कठोर नियमों के बावजूद उनकी फिल्म ‘मर्द’ दो साल तक चली.

समारोह में अमिताभ बच्चन की 1977 की सफल फिल्म ‘अमर अकबर एंथनी’ दिखाई जाएगी.

30 मार्च से 17 अप्रैल तक चलने वाला ‘इंडिया बाइ द नील’ का आयोजन भारतीय दूतावास मिस्र के संस्कृति एवं पर्यटन मंत्रालय के साथ ही काहिरा ओपेरा हाउस के साथ मिलकर कर रहा है. यह इसका तीसरा संस्करण है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!