बिलासपुर सेंट्रेल जेल के अंदर ढाबा

बिलासपुर | संवाददाता: बिलासपुर की केंद्रीय जेल में मेस के अलावा रसूखदार कैदियों के लिए अलग से ढाबा संचालित किया जा रहा था. जेल के नए प्रभारी जेल अधीक्षक के शनिवार को किए गए छापे में एचएमटी चावल, अनिक घी, राहर दाल, बेसन, मूंगदाल व बड़ी मात्रा में बर्तन समेत अन्य प्रतिबंधित खाद्य सामग्री जब्त की गई है.

उल्लेखनीय है कि शासन ने जेल अधीक्षक एसके मिश्रा के निलंबन के साथ ही केंद्रीय जेल में एआईजी जेल के पद पर कार्यरत श्री एसएस तिग्गा को प्रभारी जेल अधीक्षक बनाया है.


शनिवार शाम तिग्गा ने सहयोगी अधिकारियों के साथ केंद्रीय जेल की पाकशाला का औचक निरीक्षण किया. इसे उन्होंने पाया कि पाकशाला में सामान्य कैदियों के लिए अलग भोजन बनाया जा रहा था, जबकि रसूखदारों के लिए विशेष व्यवस्था के तहत भोजन पक रहा था.
बताया जा रहा है कि तिग्गा को देखते ही पाकशाला के कर्मचारी अलग से बन रहे भोजन को आनन-फानन में समेटने लगे. पूछे जाने पर कर्मचारियों अलग से भोजन पकाए जाने का कारण नहीं बता पाए.

इस बारे में जानकारी देते हुए प्रभारी जेल अधीक्षक तिग्गा ने बताया कि कड़ाई से पूछताछ करने में यह बात सामने आई है कि यह विशेष इंतजाम हॉटल इंटरसिटी हत्याकांड के 7 आरोपियों मनोज अग्रवाल, गुड्डा उर्फ जय जायसवाल, हनी उर्फ कौस्तुभ समदरिया, सम्राट उर्फ लाल्टू मुखर्जी, ऋषिराज मुखर्जी, विजय उर्फ हल्लो जायसवाल, अजय उर्फ छोटू जायसवाल के लिए किया गया था.

इसके गड़बड़ी के लिए प्रथमदृष्टया दोषी गोदाम प्रभारी व सहायक जेल अधीक्षक आरएस सिंह, गोदाम में तैनात जेल प्रहरी आलोक खरे व जेल प्रहरी सूर्यकांत तिवारी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!