हरियाणा में अपने दम पर सरकार

चंडीगढ़ | समाचार डेस्क: हरियाणा में पहली बार भाजपा अपने दम पर सरकार बनाने जा रही है. अब तक के चुनाव के रुझानों से स्पष्ट है कि हरियाणा में हुआ रिकॉर्ड वोटिंग दरअसल भाजपा के पक्ष में गया है. लोकसभा चुनाव के बाद हुए उप चुनावों में भाजपा को लगे झटके के बाद, हरियाणा में अपने दम पर स्पष्ट बहुमत की ओर अग्रसर भाजपा के लिये यह राहत की बात है. भाजपा ने रविवार को कहा कि यह हरियाणा में अपने दम पर सरकार बनाएगी. शुरुआती रुझान में इसे राज्य की 90 विधानसभा सीटों में 48 पर जीत हासिल होती दिख रही है तथा 3 सीटों पर जीत चुकी है. यह पहली बार है जब राज्य में भाजपा अपने दम पर सरकार बनाने की तरफ अग्रसर है. पार्टी की शुरुआत जीत के साथ हुई, इसके वरिष्ठ नेता अनिल विज को अंबाला केंट से 15,462 वोटों से जीत हासिल हुई है.

भाजपा नेता अभिमन्यु ने हिसार में कहा, “हम हरियाणा में अगली सरकार बनाएंगे. हम दो-तिहाई बहुमत हासिल करेंगे.”


सत्तारूढ़ कांग्रेस की भी जीत के साथ शुरुआत हुई और झज्जर से उम्मीदवार व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल को 26,854 वोटों से जीत हासिल हुई.

अगर भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिलती है, तो यह उसके लिए बड़ी उपलब्धि होगी, क्योंकि 2009 विधानसभा चुनाव में इसने सिर्फ चार सीटों पर जीत हासिल की थी.

हरियाणा में भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, “हरियाणा की जनता बदलाव चाहती थी. हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने काफी मेहनत की है. हमारी सफलता का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को जाता है.”

भाजपा में कई नेताओं के मुख्यमंत्री पद की होड़ में होने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में विजयवर्गीय ने कहा, “पार्टी मिलकर अगले मुख्यमंत्री पर विचार करेगी. उम्मीदवार वह शख्स होगा, जो हरियाणा के सभी वर्गों को स्वीकार्य होगा.”

पार्टी को बहुमत के लिए 46 सीटों की जरूरत है.

निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भाजपा अपने दो मुख्य विरोधियों इंडियन नेशलन लोक दल और कांग्रेस से आगे चल रही है.

इंनेलो राज्य की 21 सीटों पर और कांग्रेस 14 सीटों पर आगे चल रही है. हरियाणा जनहित कांग्रेस और अन्य क्रमश: तीन और पांच सीटों पर आगे हैं.

मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हु़ड्डा गढ़ी सांप्ला किलोइ से आगे चल रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज की बहन वंदना शर्मा साफीडन सीट से आगे हैं.

इंनेलो के नेता और हिसार सांसद दुष्यंत चौटाला भाजपा की प्रेमलता से उचान कालान विधानसभा सीट से 4,000 वोटो से पीछे चल रहे हैं.

हरियाणा की 90 सीटों पर रविवार सुबह मतगणना शुरू हुई, जिस दौरान 1,351 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा.

राज्य में इस साल रिकार्ड 76.54 फीसदी मतदान हुआ है. अब तक के रुझानों के अनुसार ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इंडियन नेशनल लोकदल दूसरे स्थान पर तथा कांग्रेस तीसरे स्थान पर रहने जा रही है. हरियाणआ के चुनावी नतीजें कांग्रेस के लिये झटके के समान है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!