भाजपा से कीर्ति ‘आज़ाद’

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: भाजपा ने अपने सांसद कीर्ति आज़ाद को निलंबित कर दिया है. दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय से जारी पत्र के माध्यम से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कीर्ति आज़ाद को सदस्यता से निलंबित कर दिया है. उन्हें इसी के साथ कारण बताओं नोटिस भी दिया गया है. उल्लेखनीय है कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के मना करने के बावजूद भी कीर्ति आज़ाद ने डीडीसीए में भ्रष्ट्राचार का आरोप लगाते हुये प्रेस कांफ्रेस किया था.

भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने इसकी पुष्टि करते हुए बीबीसी को बताया कि डीडीसीए विवाद में कीर्ति आज़ाद ने जेटली के ख़िलाफ़ जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, वो दुर्भाग्यपूर्ण है.

उधर, बिहार से भाजपा नेता शत्रुघन सिन्हा ने कीर्ति के निलंबन को सही न ठहराते हुये उन्हें हीरो करार दिया दिया. शत्रुघन सिन्हा ने कहा कि कीर्ति आज़ाद के निलंबन का उल्टा असर होगा.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस पर ट्वीट किया, “कीर्ति आज़ाद का क़सूर था कि उन्होंने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई. आज भाजपा पूरी तरह एक्सपोज़ हो गई. भाजपा पूरी तरह भ्रष्टाचार में डूबी.”

वित्तमंत्री अरुण जेटली पर इशारों ही इशारों में डीडीसीए में भ्रष्ट्राचार का आरोप लगाने वाले कीर्ति आज़ाद को आखिरकार भाजपा ने पार्टी से ही ‘आज़ाद’ कर दिया है.

भाजपा के महासचिव अनिल जैन ने कहा, “हां, उन्हें (आजाद) पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता के चलते निलंबित कर दिया गया है.”

भाजपा के प्रवक्ता जी. वी. एल. नरसिम्हा राव ने कहा कि पार्टी ने बिहार के दरभंगा संसदीय क्षेत्र से तीन बार सांसद रह चुके आजाद को पार्टी के खिलाफ जाने के लिए निलंबित किया है.

आईसीसी विश्व कप-1983 विजेता टीम के सदस्य रहे कीर्ति आजाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने से पहले से भाजपा सांसद हैं, जिन्हें निलंबित किया गया है.

आजाद हालांकि पिछले कई वर्षो से डीडीसीए के खिलाफ बोलते रहे हैं और भ्रष्टाचार के आरोप लगाते रहे हैं.

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने आजाद के निलंबन को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि आजाद को भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने की सजा मिली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *