उन्नाव कांड में भाजपा ने किया विधायक सेंगर का बचाव

नई दिल्ली | संवाददाता: भाजपा ने कहा है कि बलात्कार के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को फंसाया गया है. कठुआ और उन्नाव पर अपना बचाव करते हुये भाजपा ने सारा दोष कांग्रेस और मीडिया पर मढ़ दिया है. भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी ने असम में एक मुस्लिम लड़के द्वारा एक नाबालिग से रेप का उदाहरण देते हुये कहा कि उस मामले में किसी ने आवाज नहीं उठाई.

भाजपा की ओर से मीनाक्षी लेखी ने एक पत्रकार वार्ता में कहा कि उन्नाव की घटना करीब 10 महीने पहले की है. 11 जून 2017 को पीड़िता गायब हुई थी. पीड़िता के परिवार ने शुभम और अवधेश नाम के दो लोगों पर केस किया. 21 जून को लौट कर आई. 22 जून को पुलिस ने इनका बयान मैजिस्ट्रेट के सामने कराया. उन्होंने कुछ लोगों का नाम लिया लेकिन विधायक का नाम नहीं लिया.’


मीनाक्षी लेखी ने कहा कि जून-जुलाई के बीच पीड़िता ने पीएम और आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी. विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाया. पीएमओ ऐक्शन में आया. कार्रवाई हुई. 30 अक्टूबर को विधायक समर्थकों ने पीड़िता के परिवार पर मानहानि का केस किया. आपस में झगड़ा शुरू हो गया.

मीनाक्षी लेखी ने विधायक के दबाव में पुलिस द्वारा पीट-पीट पीड़िता के पिता को मार डालने, उन्हें गिरफ्तार कर थाने में रखने, इलाज नहीं कराने और मीडिया में जारी तमाम किस्म के विडियो को सवालों के घेरे में खड़ा करते हुये कहा कि 3 अप्रैल को पीड़िता के पिता के साथ मारपीट हुई, जो आपसी रंजिश का नतीजा था. पुलिस ने आर्म्स ऐक्ट का केस लगाया. सीएमओ और डॉक्टर की तरफ से गलत रिपोर्ट आई. दोनों को कस्टडी में ले लिया गया है, जिन्होंने लड़की के पिता को जेल जाने के लिए फिट बताया था. डेप्युटी एसपी को सस्पेंड कर दिया गया है. विधायक को पूछताछ के लिए बुलाया गया है.

भाजपा नेता ने मामले को सांप्रदायिक रंग देते हुये कहा कि उन्नाव वाला केस 10 महीने पुराना है, कठुआ का केस जनवरी का है लेकिन अप्रैल में असम में भी एक केस हुआ. पांचवीं क्लास की 12 साल की छात्रा से रेप हुआ, उसे केरोसीन डालकर जलाया गया. इस घटना में शामिल शख्स 21 साल का जाकिर हुसैन था. मीनाक्षी लेखी ने कहा कि कुछ लोग इस विषय पर चुप हैं जबकि बाकी विषयों को उछाल रहे हैं. मीनाक्षी लेखी ने कहा कि बाजपा नहीं चाहती कि इन विषयों पर राजनीति हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!