रक्तस्राव से हुई मुंडे की मौत: पीएम रिपोर्ट

नई दिल्ली | एजेंसी: केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे की मौत सदमे और रक्तस्राव से हुई. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान द्वारा दिल्ली पुलिस को सौंपी गई पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई. पुलिस को मंगलवार रात सौंपी गई पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, “दुर्घटना में मुंडे को गरदन एवं लीवर पर गहरी चोट पहुंची, जिसके कारण आंतरिक रक्तस्राव हुआ.”

पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस तरह की चोट सामान्यत: सड़क दुर्घटना वाले मामलों में देखी जाती है. जोरदार एवं अप्रत्याशित टक्कर की वजह से मुंडे को गरदन और पेट पर गहरी चोट पहुंची थी.

रिपोर्ट में कहा गया कि दुर्घटना में मुंडे की गरदन के ऊपरी हिस्से में चोट आई थी, जहां कपाल और मेरुदंड आपस में जुड़े होते हैं.

विशेषज्ञों का कहना है कि यह जोड़ मेरुदंड का सबसे महत्वपूर्ण जोड़ होता है और यह कपाल के ठीक नीचे आधार पर स्थित होता है. इस तरह, मस्तिष्क स्तंभ से नजदीकी को देखते हुए स्थिरता के महत्व की दृष्टि से गरदन के इस हिस्से में लगी चोट घातक हो सकती है.

चिकित्सकों का कहना है कि दुर्घटना में मुंडे की गरदन में चोट आई थी. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, “उनके की पेट की गुहा में 500 मिलीलीटर द्रव्य और खून के थक्के पाए गए. उनके लीवर में दाहिने और बाएं तरफ घाव लगा था.”

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया कि उनकी नाक पर लाल रंग के निशान पाए गए. उनके पाश्र्व और दाहिनी आंख के नीचे भी इसी तरह के निशान पाए गए.

पुलिस ने बताया कि मारुति सुजुकी एसएक्स4 जिसमें मुंडे सवार थे, उसमें से उनके बालों का नमूना भी फोरेंसिक जांच के सबूत के तहत लिया गया.

गौरतलब है कि मुंडे मंगलवार सुबह मारुति सुजुकी एसएक्स4 में सवार हो इंदिरा गांधी हवाईअड्डे की ओर रवाना हुए थे, जब एक टाटा इंडिका कार ने उनकी कार को टक्कर मार दी. मुंडे को अपने पैतृक गांव में एक कार्यक्रम में भाग लेना था, जिसके लिए वह विमान से मुंबई जाने वाले थे. हादसा दक्षिणी दिल्ली में सुबह 6.20 बजे हुआ.

मुंडे के निजी सुरक्षा अधिकारी सुरेंद्र नायर चालक के बगल में अगली सीट पर बैठे थे, जबकि मुंडे वीरेंद्र कुमार के साथ पिछली सीट पर बैठे थे.

मुंडे की कार को जोरदार टक्कर उस तरफ से लगी जिस तरफ मुंडे बैठे हुए थे.

दिवंगत मंत्री का अंतिम संस्कार महाराष्ट्र के बीड जिले स्थित उनके पैतृक गांव परली-वैजनाथ गांव में बुधवार दोपहर किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *