जिंदल-ओबामा विवाद पहुंचा अदालत

वाशिंगटन | डेस्क: अमेरिका के ल्युसियाना प्रांत के भारतीय मूल के गवर्नर और राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी के 17 दावेदारों में से एक बॉबी जिंदल और ओबामा प्रशासन के बीच स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़ा मुद्दा अदालत पहुंच गया है. जिंदल की कोशिश है कि सरकारी स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम से प्लांड पैरेंटहुड गल्फ कोस्ट नाम की संस्था को हटा दिया जाए. यह संस्था सरकारी ‘मेडिक एड प्रोग्राम’ के तहत प्रजनन स्वास्थ्य एवं मातृ तथा शिशु स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराती है.

दरअसल गर्भपात रोधी कार्यकर्ताओं ने गुप्त रूप से कुछ वीडियो बनाए हैं, जिन्होंने क्लीनिक में होने वाले ऑपरेशनों को कठघरे में खड़ा कर दिया है. इन्हीं वीडियो के आधार पर जिंदल ने ‘प्लांड पैरेंटहुड’ पर रोक लगाने की कवायद शुरू की है.

सिर्फ जिंदल ही नहीं बल्कि रिपब्लिकन पार्टी से राष्ट्रपति पद के सभी 17 दावेदारों ने कहा है कि चुनाव जीतने पर वे ‘मेडिक एड प्रोग्राम’ को मिलने वाली संघीय मदद को रोक देंगे.

जिंदल की कोशिशों के खिलाफ ‘प्लांड पैरेंटहुड’ ने ल्युसियाना संघीय अदालत की शरण ली है.

‘यूएसए टुडे’ की रपट में बताया गया है कि इस मामले की सुनवाई से पहले कानून विभाग के वकीलों ने भी अदालत में अर्जी लगाई. अर्जी में कहा गया है कि राज्य ने संघीय मदद हासिल करने वाली स्वास्थ्य सेवा को मुहैया कराने वाले से उसका काम छीनने की कोई वाजिब वजह नहीं बताई है.

अर्जी में कहा गया है, “राज्य के पास इस बात का कोई असीमित अधिकार नहीं है कि वह तय करे कि संघीय स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने की योग्यता किसी के पास है या नहीं. ” मामले की सुनवाई बेटन रुज में अमेरिकी जिला न्यायाधीश जॉन डि ग्रावेलेस की अदालत में बुधवार को होगी.

जिंदल ने एक बयान में कहा है, “राष्ट्रपति ओबामा प्लांड पैरेंटहुड के बेबी हारवेस्टिंग ऑपरेशन को बचाने के लिए इतने प्रतिबद्ध हैं कि उन्होंने कानून विभाग के अपने वकीलों को मुझ पर मुकदमा ठोकने और हमें इन करारों को रद्द करने से रोकने के लिए बेटन रुज भेज दिया.” बयान में जिंदल ने कहा है, “राष्ट्रपति ओबामा ने वीडियो नहीं देखे, लेकिन उनके पास मुकदमा दायर करने का वक्त है. ठीक है, मेरे पास उनके लिए एक खबर है- हम पीछे नहीं हटने जा रहे हैं.”

‘प्लांड पैरेंटहुड’ ने बीते महीने गवर्नर भवन के सामने प्रदर्शन किया था. जवाब में जिंदल की तरफ से क्लीनिक में होने वाले गर्भपात ऑपरेशनों के गुप्त रूप से शूट किए गए वीडियो एक पर्दे पर दिखाए गए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *