अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगे बॉबी जिंदल?

वाशिंगटन | एजेंसी: अमरीकी राष्ट्रपति की दौड़ में एक भारतवंशी बॉबी जिंदल भी शामिल हैं. अमरीका में भारतवंशी रिपब्लिकन गवर्नर बॉबी जिंदल ने स्वीकार किया है कि वह 2016 में राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल होने के बारे में सोच रहे हैं और वह नवंबर में प्रस्तावित कांग्रेस के चुनाव के बाद इस बारे में अंतिम निर्णय लेंगे.

जिंदल ने मंगलवार को एक क्रिश्चियन साइंस मॉनिटर जलपान के दौरान यहां संवाददाताओं से कहा कि उनका निर्णय चुनाव और चंदा जुटाने पर निर्भर नहीं होगा.


हाल ही में सीएनएन/ओआरसी द्वारा न्यू हैंपशायर में कराए गए सर्वेक्षण में रिपब्लिकन के प्राइमरी मतदाताओं में से सिर्फ तीन फीसदी ने उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए समर्थन देने की बात कही थी.

जिंदल राष्ट्रपति पद के 11 दावेदारों में सबसे निचले पायदान पर हैं. लेकिन उनका कहना है कि यह उतना बड़ा मुद्दा नहीं है.

उन्होंने कहा, “अगर मैने 2016 के चुनाव के बारे में निर्णय लिया, तो इसका चुनाव और चंदा जुटाने कुछ लेना-देना नहीं होगा.”

जिंदल को 2003 में लुसियाना के गवर्नर पद की दौड़ में हार मिली थी, लेकिन 2004 में वह अमरीकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुने गए थे. वह 2007 में गवर्नर का चुनाव भी जीते और 2011 में वह फिर गवर्नर चुने गए.

उन्होंने कहा कि बुनियादी सवाल यह है कि “क्या मैं कुछ अलग कर सकता हूं, क्या मैं कुछ अलग देने के बारे में सोचता हूं?”

सीएनएन के मुताबिक, जिंदल ने कहा, “जब मैंने पहली बार चुनाव लड़ा था, हार का अंतर बहुत बड़ा था, मेरा मतलब है कि मुझे बहुत कम वोट मिले थे. मुझे लगता है कि संकोची होने का कोई मतलब नहीं है. मैं मंथन कर रहा हूं कि मैं 2016 का चुनाव लड़ूं या नहीं.”

रिपब्लिकन गवर्नर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष जिंदल ने अपने गवर्नर कार्यकाल के दौरान लुसियाना में हुई प्रगति की तरफ भी ध्यान खींचा.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बराक ओबामा, जिम्मी कार्टर के बाद सबसे खराब राष्ट्रपति हैं.

जिंदल ने कहा, “ओबामा सैद्धांतिक रूप से एक कट्टर राष्ट्रपति हैं. और मुझे लगता है कि वह एक अयोग्य राष्ट्रपति हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!