बॉलीवुड ने कहा I Luv My India

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: गणतंत्र दिवस पर बालीवुड की हस्तियों ने अपने देश को सलाम किया. कुछ ने इसी के साथ अपने बचपन को याद किया तो कुछ ने टीवी पर गणतंत्र दिवस की परेड देखा. बालीवुड का देशभक्ति से हमेशा से ही नाता रहा है. बालीवुड की फिल्मों के कई गाने देशभक्ति पर हैं तथा कई फिल्में भी देशभक्ति का ज़स्बा जगाती हैं. बॉलीवुड हस्तियों ने सोमवार को 66वें गणतंत्र दिवस के मौके पर परेड देखने से जुड़ी अपनी यादों को न केवल याद किया, बल्कि भारत की संस्कृति के प्रति गर्व भी जताया. उन्होंने इस खास दिन पर ट्विटर पर शुभकामनाएं देकर देश व दुनिया में एकता व अमन बने रहने की कामना की.

शाहरुख खान : टेलीविजन पर परेड देखना याद है. गर्व होता है. अपने परिवार की कमी खल रही है और याद आ रहा है कि हम कैसे फ्रीडम फाइर्ट्स सेक्शन से परेड देखने गए थे.


लारा दत्ता : हमारे गणतंत्र दिवस की परेड देखकर हमेशा ही बेहद गर्व होता है.

मधुर भंडारकर :
गणतंत्र दिवस की बधाई. भारतीय होने पर गर्व है. जय हिंद. वंदे मातरम.

फरहान अख्तर :
न्याय, स्वतंत्रता, समानता व बधाईचारा..गणतंत्र दिवस की बधाई.

श्रीदेवी : आप सभी को गणतंत्र दिवस की बधाई. सभी भारतीयों के लिए गर्व व सम्मान का दिन.

टिस्का चोपड़ा : गणतंत्र दिवस मुबारक हो. आशा करती हूं कि हर कोई टेलीविजन पर चाय की प्याली के साथ परेड देख रहा है.

सोनाक्षी सिन्हा : गणतंत्र दिवस की बधाई. आई लव माय इंडिया. जय हिंद.

अर्जुन रामपाल : गणतंत्र दिवस मुबारक हो.

नरगिस फाकरी : गणतंत्र दिवस की परेड की देखकर मजा आ रहा है. यह बहुत खूबसूरत है.

कुणाल कोहली :
मैंने जब कभी गणतंत्र दिवस का परेड देखा मुझे गर्व महसूस हुआ.

प्रीति जिंटा : मेरे सभी भारतीय दोस्तों को गणतंत्र दिवस मुबारक हो.

शबाना आजमी :
मेरे बचपन की खुशहाल यादों में से एक है, गणतंत्र दिवस पर रेड फ्लैग हॉल निवासियों के साथ एक ट्रक में बैठकर चौपाटी पर लाइटें देखने जाना.

मल्लिका शेरावत : गणतंत्र दिवस की बधाई हो. टेलीविजन पर परेड देख रही हूं. अच्छी लग रही है.

उल्लेखनीय है कि बॉलीवुड में 1990 और 2000 के दशक में देशभक्ति को लेकर कई फिल्में बनाई गईं. हिंदी फिल्म उद्योग ने इस दौरान ‘बॉर्डर’, ‘एलओसी कारगिल’, ‘द लीजेंड ऑफ भगत सिंह’ और ‘द राइजिंग : बैलड ऑफ मंगल पाण्डेय’ जैसी कई फिल्में बनाईं, जिनकी कहानी स्वतंत्रता सेनानियों और युद्धों पर आधारित थीं. गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता समारोह के पहले इस तरह की फिल्में दर्शकों को दिखाई जाती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!