द्विपक्षीय संबंधों के लिए सीमा पर शांति जरूरी: मनमोहन

नई दिल्ली | विशेष संवाददाता: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भारत की आधिकारिक यात्रा पर आए चीनी प्रधानमंत्री ली केचियांग से हुई मुलाकात में लद्दाख में हुई चीनी घुसपैठ के मुद्दे पर रोष व्यक्त किया है. श्री सिंह ने कहा कि सीमा पर शांति और सद्भाव की स्थिति बनी रहे अन्यथा इससे द्विपक्षीय संबंधों पर बुरा असर पड़ेगा.

गौरतलब है कि दो महीने पहले ही चीन की प्रधानमंत्री बने ली केचियांग अपनी पहली विदेशी यात्रा पर रविवार को भारत आए हैं. ली केचियांग तीन दिनों तक भारत में रहेंगे और दोनों देशों के बीच सहयोग और मैत्री बढ़ाना उनका प्रमुख एजेंडा होगा.


दिल्ली पहुँचने के बाद केचियांग ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से औपचारिक मुलाकात की जिसमें श्री सिंह ने चीनी घुसपैठ पर भारत की चिंताओं से उन्हें अवगत कराया. श्री सिंह ने सीमा मुद्दे के साथ-साथ ब्रह्मपुत्र नदी पर चीन द्वारा बनाए जा रहे बांधों का मसला भी उठाया.

बातचीत के दौरान केचियांग ने तिब्बत के मुद्दे पर चिंता जताई जिसके बाद श्री सिंह ने उन्हें आश्वस्त किया कि दलाई लामा एक सम्मानित आध्यात्मिक और धार्मिक नेता हैं और तिब्बतियों को भारत में किसी भी प्रकार की राजनीतिक गतिविधियों में शामिल होने पर रोक है.

केचियांग का भारतीय दौरा ऐसे समय पर हो रहा है जब दोनों देशों के बीच सीमा का मुद्दा एक बार फिर गर्माया हुआ है. हाल ही में चीनी सेना लद्दाख की देपसांग घाटी में 19 किलोमीटर तक भीतर घुस आई थी और वहां कब्जा जमा लिया था. इस मुद्दे का समाधान दो ही हफ्तों पहले हो पाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!