ब्रसेल्स में मौत का नज़ारा

ब्रसेल्स | समाचार डेस्क: बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के जेवेंतम हवाईअड्डे पर मंगलवार को दो जबरदस्त विस्फोट हुए. इसमें एक आत्मघाती विस्फोट बताया जा रहा है. इसके अलावा तीसरा विस्फोट ब्रसेल्स शहर के बीच एक मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन के डिब्बे में हुआ. इन तीनों विस्फोटों में कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा एक भारतीय महिला समेत 170 से अधिक लोग घायल हैं. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने इस हमले की जिम्मेदारी लेते हुए यूरोप में ऐसे ही और हमले करने का एलान किया है.

हवाईअड्डे पर हुए दो विस्फोटों में कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है. देश के सबसे बड़े हवाईअड्डे पर सुबह आठ बजे के कुछ पहले प्रस्थान हॉल में पहला विस्फोट हुआ. उसके दस सेकेंड बाद ही दूसरा विस्फोट हुआ जिसके बाद खिड़कियां और मशीनें सब टूट कर बिखर गईं और प्रस्थान हॉल युद्ध क्षेत्र जैसा दिखने लगा.

एक घंटे बाद मालबीक मेट्रो स्टेशन पर तीन बोगियों वाली मेट्रो ट्रेन की बीच वाली बोगी में विस्फोट हुआ जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई जबकि 55 घायल हैं. घायलों में 16 की हालत नाजुक है. अन्य लोग हवाईअड्डे पर हुए दो विस्फोटों में में घायल हुए हैं.

इस आतंकी हमले की भारत सहित पूरी दुनिया के देशों ने निंदा की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट में इस आतंकी हमले को विचलित कर देने वाला और निंदनीय कहा है.

ऐसा लगता है यह सुनियोजित ढंग से किया गया आतंकी हमला है. हवाईअड्डे पर हुए हमले में एक आत्मघाती हमलावर के शामिल होने की बात भी सामने आ रही है, क्योंकि इन दोनों विस्फोटों से पहले गोलियां भी चलाई गईं एवं अरबी में चिल्लाते हुए भी सुना गया. बाद में एक मृतक के शव के पास रूस निर्मित एक अत्याधुनिक राइफल कलास्निकोव भी पड़ी मिली.

ये विस्फोट पेरिस हमले के संदिग्ध सलाह अब्देसलाम की यहां हुई गिरफ्तारी के मात्र चार दिनों बाद हुए हैं. पेरिस में गत वर्ष नवंबर में हुए उस आतंकी हमले में 130 लोगों की जान गई थी.

जेट एयरवेज ने एक बयान में कहा है, “जेट एयरवेज के यात्रियों और कर्मचारियों को ब्रसेल्स एयरपोर्ट के उस टर्मिनल से हटा दिया गया है. जिन यात्रियों को वहां से दूसरे विमान से कहीं जाना था उन्हें हवाईअड्डे की इमारत से विमान के हैंगरों में भेज दिया गया है.”

यह भी कहा गया है कि हवाईअड्डे के अधिकारियों के साथ हमारे ब्रसेल्स स्थित कर्मचारी जल्द से जल्द आप्रवासन की प्रक्रिया पूरी करने में लगे हैं, ताकि जिन यात्रियों को बाहर जाना है, उन्हें हवाईअड्डे से निकाला जा सके.

बेल्जियम के प्रधानमंत्री चार्ल्स माइकल ने इस जनसंहार के लिए आतंकियों को जिम्मेदार ठहराया है और इसे कायरतापूर्ण कार्रवाई बताया है.

शोकमग्न और उदास माइकल ने कहा, “हमें पहले से ही हमले का डर था. वह अब हो गया है. बहुत सारे लोग मारे गए हैं. हमलोग स्थिति का मुकाबला कर रहे हैं.” उन्होंने यह भी कहा कि बेल्जियम स्थिति से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है.

बीबीसी और अधिकांश मीडिया ने कहा है कि शुरुआती खबरों में कहा गया था कि ये विस्फोट अमेरिकन एयरलाइंस की डेस्क पर हुए, लेकिन बाद की खबरों में कहा गया कि एक विस्फोट रनवे पर हुआ, जबकि दूसरा उस प्रस्थान स्थल के पास हुआ जहां तक आम लोग आसानी से पहुंच सकते थे.

तस्वीरों में दिखता है कि विस्फोट से हवाईअड्डे की इमारत की खिड़कियां बाहर निकल गई हैं और दूर तक आकाश में धुएं का गुबार उठ रहा है. वीडियो में यह भी दिख रहा है कि दहशतजदा यात्री अपनी जान बचाने के लिए हवाईअड्डे से बाहर भाग रहे हैं.

‘स्काइन्यूज’ के खाड़ी के देशों के संवाददाता एलेक्स रॉसी तेल अवीव जाने के लिए हवाई अड्डे पर थे. उन्होंने कहा, “मैं उस इमारत की गतिविधियों को महसूस कर सकता था.”

ब्रसेल्स हवाईअड्डे और मेट्रो स्टेशन दोनों को खाली कराकर बंद कर दिया गया है.

सीएनएन ने एंटॉनी बारेट नाम के पर्यटक को यह कहते उद्धृत किया है कि उसने सुबह आठ बजे के करीब हवाईअड्डे से लगे होटल से विस्फोटों की आवाजें सुनी थीं.

बारेट ने कहा कि उसने तब तक 19-20 स्ट्रेचर पर लोगों को ले जाते देखा था. घायलों को ढोने लिए सामान ढोने वाली ट्रॉली का भी उपयोग किया जा रहा था.

फ्लाइटट्रेडर24 वेबसाइट के अनुसार, मुंबई से ब्रसेल्स पहुंचा जेट एयरवेज का एक विमान विस्फोट से पहले 7.11 बजे उतरा था. एक दूसरी फ्लाइट जो दिल्ली से गई थी, वह विस्फोट के बाद सुबह 8.08 बजे पहुंची थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *