बांग्लादेश में प्रोफेसर की नृशंस हत्या

ढाका | समाचार डेस्क: बांग्लादेश में एक और बुद्दिजीवी प्रोफेसर रेजाउल करीम सिद्दीकी की सरेआम हत्या कर दी गई है. पुलिस का मानना है कि इसमें भी इस्लामिक आतंकियों का हाथ हो सकता है. उल्लेखनीय है कि प्रोफेसर रेजाउल करीम सिद्दीकी की उसी तरह से हत्या कर दी गई जिस तरह से पूर्व में एक ब्लॉगर तथा ऑनलाइऩ कार्यकर्ता की हत्या की गई थी. उत्तरी बांग्लादेश के राजशाही जिले में शनिवार को एक विश्वविद्यालय के प्रोफेसर की हत्या कर दी गई.

वेबसाइट ‘बीडीन्यूज24 डॉट कॉम’ के अनुसार
, पुलिस ने कहा कि राजशाही विश्वविद्यालय में अंग्रेजी के प्रोफेसर रेजाउल करीम सिद्दीकी पर उनके निवास के पास मोटरसाइकिल सवार दो अज्ञात हमलावरों ने हमला कर दिया.

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, “वह विश्वविद्यालय परिसर जाने के लिए एक बस पकड़ने जा रहे थे. मोटरसाइकिल सवार हमलावरों ने उनकी गर्दन रेत दी और घटनास्थल पर ही उन्हें मार डाला.”


अंग्रेजी विभाग के शिक्षक सिद्दीकी लेखक भी थे, और कई सांस्कृतिक संगठनों से जुड़े हुए थे.

हत्या के कारणों का फिलहाल खुलासा नहीं हो पाया है.

उनके भाई साजिदउल करीम ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि इसके पहले प्रोफेसर को किसी ने कोई धमकी दी थी.

गुप्तचर शाखा के सहायक आयुक्त सुशांत चंद्र रॉय ने कहा, “हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि कहीं इस हत्याकांड में कोई आतंकवादी संगठन तो शामिल नहीं है.”

गौरतलब है कि दो साल पहले राजशाही विश्वविद्यालय के एक शिक्षक शफीउल इस्लाम की भी इसी तरह हत्या कर दी गई थी.

यद्यनि शफीउल की हत्या की जिम्मेदारी इस्लामी कट्टरपंथियों ने ली थी, लेकिन बाद में पुलिस ने यह कहते हुए इस दावे को खारिज कर दिया था कि यह हत्याकांड व्यक्तिगत दुश्मनी का परिणाम था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!