बदहाल सुकमा-कोंटा मार्ग पर बस संचालन ठप

जगदलपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के अंतर्गत आने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-30 में सुकमा से लेकर कोंटा के बीच बदहाल रास्तों के चलते अधिकांश निजी बस संचालकों ने इस मार्ग पर बस संचालन बंद कर दिया है. दक्षिण बस्तर इलाके में आने वाले इस मार्ग पर बड़े-बड़े गड्ढों एवं बारिश से हुए कीचड़ के कारण जगह-जगह बसें फंस जा रही थी जिसके वजह से बस ऑपरेटरों ने यह निर्णय लिया है.

वर्तमान में सुकमा-कोंटा मार्ग पर सिर्फ दो बसों ही संचालित हो रही है जिसमें से एक आंध्रप्रदेश स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कमीशन (एपीएसआरटीसी) की है और दूसरी निजी बस ऑपरेटर गुप्ता ट्रेव्हल्स की है जो कि विजयवाड़ा तक संचालित हो रही है. अन्य बसों के बंद होने से इन बसों में यात्रियों को ठूंस कर जाना पड़ रहा है. हालांकि कुछ बसों का जगदलपुर से सुकमा तक संचालन जरूर हो रहा है.


वैसे कुछ दिनों पूर्व तक इस मार्ग पर आधा दर्जन से अधिक यात्री बसों का संचालन हो रहा था क्योंकि तब यह मार्ग फिर भी आवागमन के लिए लायक था लेकिन भारी बारिश और कुछ इलाकों में बाढ़ के वजह से क्षतिग्रस्त हो चुकी सड़कें और गढ्ढों में फर्क करना मुश्किल हो गया है.

गौरतलब है कि राज्य में सड़क निर्माण के लिए हर वित्त वर्ष मंजूर किए जा रहे अरबों रुपयों के बावजूद पिछले कई दशकों से जीर्णोद्धार के इंतजार में है लेकिन नक्सली राज्य सरकार नक्सली दहशत का बहाना बना कर इसे नजरअंदाज करती आ रही है जिसके फलस्वरूप अब यह मार्ग बंद होने के कगार पर है.

सुकमा-कोंटा मार्ग की बदहाली को लेकर कई बार स्थानीय लोगों और विपक्षी पार्टियों द्वारा धरना प्रदर्शन व आंदोलन किया जा चुका है लेकिन हालात वहीं ढाक के तीन पात वाली बनी हुई है. जाहिर है सरकारी नंजरअंदाजी का खामियाजा अब आम जनता को भुगतना पड़ रहा है.

ज्ञात हो कि बस्तर के कई लोग उपचार कराने व अन्य किसी काम से आंध्रप्रदेश के हैदराबाद या विजयवाड़ा आना-जाना करते हैं, लेकिन अब पिछले पखवाड़े भर से आंध्रप्रदेश की ओर बस सेवाएं बंद हो जाने से यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!