कैंसर कैसे होता है

न्यूयॉर्क | एजेंसी: नए निष्कर्ष में शोधकर्ताओं ने यह पता लगाया है कि प्रोटीन का समुच्चय कैंसर कोशिका झिल्ली से किस प्रकार जुड़ा रहती है. प्रोटीन समूह या समुच्चय से जुड़ा यह निष्कर्ष कैंसर रोधी दवाओं के निर्माण में मददगार होगा.

अमरीका के ह्यूस्टन स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास हेल्थ साइंस सेंटर के प्रमुख शोधकर्ता अलेमायेहू जॉर्फ ने कहा, “समुच्चय बड़े कण हैं, जिनकी भित्तियां घुमावदार होती हैं.”

मानव में होने वाले एक तिहाई कैंसर का कारण है रास प्रोटीन में म्यूटेशन.

जॉर्फ कहते हैं, “पैंक्रियाज में होने वाले 90 फीसदी कैंसर की वजह क्रिस्टेन या के रास प्रोटीन में म्यूटेशन है.”

वह कहते हैं, “कैंसर रोधी दवा के निर्माण में यही जानकारी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.”

वैज्ञानिकों को वर्तमान में इस बारे में बहुत कम जानकारी है कि रास प्रोटीन द्वारा झिल्लियों पर अतिसूक्ष्म आकार के समुच्चय बनाने का परिणाम क्या होता है और यह कैसे बनता है.

कोशिका झिल्ली पर तेजी से इकट्ठा और अलग होने वाली ये अतिसूक्ष्म और अस्थायी रचनाएं ही सिग्नल के संचरण के लिए जिम्मेदार हैं.

जॉर्फ पाते हैं कि रास प्रोटीन कोशिका झिल्ली पर एक साथ इकट्ठा होकर समुच्चय बनाते हैं. इससे प्रश्न यह उठता है कि इसके पीछे उनका उद्देश्य क्या है.

रास प्रोटीन कोशिकाओं के विभाजन के लिए एक स्विच की तरह काम करता है, जो जरूरत पड़ने पर ऑन और ऑफ होता है.

जब रास प्रोटीन में म्यूटेशन हो जाता है, तो वह कोशिकाओं के विभाजन को नियंत्रित नहीं कर पाता, अर्थात् वह ऑफ नहीं हो पाता. परिणामस्वरूप अनियंत्रित तरीके से कोशिकाओं का विभाजन होता है और वह कैंसर की ओर अग्रसर होता है.

यह अध्ययन ‘फिजिकल केमिस्ट्री लेटर्स’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *