बदायूं रेप की सीबीआई जांच, मुरादाबाद में भी रेप

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: सीबीआई ने गुरुवार को बदायूं रेप पर एफआईआर दर्ज कर ली है. वहीं यूपी में रेप का सिलसिला नहीं थम रहा है. गुरुवार को सुबह पुलिस को सूचना मिली कि मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा में एक 19 वर्षीय लड़की का शव पेड़ से लटका हुआ है.

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और रिपोर्ट का इंतज़ार है. इससे पहले बहराइच में एक लड़की का शव पेड़ पर लटका मिला था. इसके अलावा पूर्वी उत्तर प्रदेश के देवरिया ज़िले के तरकुलवा में पति-पत्नी की लाश भी पेड़ से लटकी पाई गई.


बदायूं रेप केस पर एक सीबीआई के अधिकारी ने कहा कि “बदायूं के कथित दुष्कर्म मामले की एफआईआर हमने दर्ज कर ली है. शुक्रवार को फॉरेंसिक विशेषज्ञों समेत उप पुलिस महानिदेशक के नेतृत्व में 20 अधिकारियों का एक दल उत्तर प्रदेश रवाना होगा. दल को साजोसामान प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से निवेदन किया गया है.” यूपी सरकार से कहा गया है कि सीबीआई की टीम को लॉजिस्टिक सपोर्ट दे.

गौरतलब है कि गत महीने की 27 तारीख़ को बदायूं में दो चचेरी बहनों को बलात्कार के बाद गांव के पास ही एक बग़ीचे में आम के पेड़ से लटका दिया गया था. हालाकि बाद में राज्य पुलिस के एक बड़े अधिकारी ने कहा कि दो में से केवल एक बहन के साथ बलात्कार हुआ था, दूसरे के साथ बलात्कार की पुष्टि नहीं हो पाई है. लेकिन परिजन पुलिस के इस दावे को ख़ारिज करते हैं.

लोकसभा चुनाव में यूपी की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था. जिससे उनकी अच्छी-खासी फजीहत पुई. उसके बाद से एक के बाद होते रेप तथा पीड़डिता के शव को लटका पाये जाने से अखिलेश सरकार की मुसीबतें बढ़ती ही जा रही है. गौरतलब है कि बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती ने यूपी में इसी बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!