गांवों में नहीं पहुँचा हेल्थ कार्ड

रायगढ़ | संवाददाता: रायगढ़ शहर से सटे 12 गांव को नगर निगम ने अपने सीमा क्षे˜त्र में शामिल तो कर लिया है, पर इन गांवों में विकास कार्य कराने में रुचि नहीं दिखा रही है. विकास कार्यों के साथ अब इन गांवों में राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही स्वास्थ्य स्मार्ट कार्ड बनाने की योजना भी ठंडे बस्ते में चली गई है.

स्मार्ट कार्ड बनाने का अंतिम तिथि 15 सितंबर है, जबकि 12 गांव की कुल आबादी लगभग 60 हजार है. इसमें अब तक एक भी एपीएल परिवार का स्मार्ट कार्ड नहीं बन पाए हैं. ऐसे में निगम के लिए तय समय सीमा के अंदर एक दर्जन गांव की बड़ी आबादी को स्मार्ट कार्ड से जोडऩा नामुमकिन के साथ असंभव लग रहा है.


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की महत्वाकांक्षी योजना स्वास्थ्यस्मार्ट कार्ड से 12 गांव वंचित होने की कगार पर पहुंच चुके हैं. निगम में शामिल किए गए 12 गांव के हजारों एपीएल परिवारों का अब तक स्मार्ट कार्ड नहीं बन सका है और न ही निगम एपीएल सर्वे सूची बना पाया है.

सर्वे कार्य पूरा नहीं होने के कारण स्मार्ट कार्ड बनाने वाली कंपनी को 12 गांव का डाटा नहीं मिला जिस कार‡ण इन गांवों के लोगों का स्मार्ट कार्ड नहीं बना है. इसका मुख्य कारण है कि उन गांवों में न तो सरपंच है और न ही पार्षद, ऐसे में वहां निवासरत लोगों को सत्यापन कराने में कठिनाई हो रही है .

नए जुड़े 12 गांव में आ रही इस समस्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने कलेक्टर को अवगत कराया था जिस पर जिला प्रशासन ने निगम आयुक्त को एक अधिकारी या कर्मचारी सत्यापन के लिए नियुक्त करने कहा था लेकिन निगम आयुक्त ने अब तक इस ओर ध्यान नहीं दिया जिसके कार‡ण एपीएल कार्ड धारी सत्यापन कराने के साथ स्मार्ट कार्ड बनवाने के लिए भटक रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!