चंदौली में दर्दनाक हादसा, मकान ढ़हने से मृत 13

चंदौली | समाचार डेस्क: उत्तर प्रदेश के चंदौली में एक निर्माणधीन मकान में सो रहे 13 लोगों को पता नहीं था कि उन्हें सुबह की रोशनी देखने को नहीं मिलेगी. उन सभी 13 का जिसमें बच्चें भी शामिल हैं पर मकान ढ़ह कर गिर गया. जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. वहीं 3 घायलों को मलबे से निकालकर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. उत्तर प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश के चंदौली जनपद में रविवार तड़के एक दर्दनाक हादसे में चार रिश्तेदार सहित 13 लोगों की मौत मकान के मलवे में दबने से हो गई. दो महिलाओं समेत तीन लोगों को बचा लिया गया है. घटना मुगलसराय थाना क्षेत्र के दुलहीपुर के समीप भिसौड़ी गांव में हुई. प्रशासन ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है.

पुलिस के अनुसार, वाराणसी शहर के दोषीपुरा मोहल्ला निवासी कमरूल हसन ने वहां की अपनी संपत्ति बेचकर भिसौड़ी में मकान बनाना शुरू किया था. मकान का एक तल पूरा हो गया था और उसमें कमरूल हसन अपने परिवार के साथ रह रहे थे. मकान के दूसरे और तीसरे तल के निर्माण का कार्य चल रहा था.


शनिवार को कमरूल हसन के कुछ रिश्तेदार उनके यहां आए और रात में वहीं रुक गए. सभी लोग जब गहरी नींद में थे, तभी देर रात ढाई से तीन बजे के बीच मकान की पिछली दीवार भरभराकर गिर गई. इस कारण मकान का बड़ा हिस्सा जमींदोज हो गया. मकान के अंदर सो रहे 16 लोग उसमें दब गए.

आस-पास के लोग आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे. वे वहां का मंजर देखकर घबरा गए और तुरंत घटना की सूचना प्रशासन को दी और खुद बचाव कार्य में जुट गए. मलवा हटाए जाने पर 55 वर्षीय कमरूल हसन, 8 वर्षीय सैय्यदा, 70 वर्षीय लैला, 50 वर्षीय चंदा बीबी, 14 वर्षीय जैनब, 35 वर्षीय हुस्ना बानो, 15 वर्षीय सोनू, 8 वर्षीय रमजान, 30 वर्षीय कल्लू हुसैन, 10 वर्षीय शबीना, 19 वर्षीय कैशर, 14 वर्षीय निशांत हैदर व 38 वर्षीय ताजिम मृत मिले.

राहत कार्य में जुटे लोगों ने 70 वर्षीय अंबिया बेगम, कमरूल हसन के बेटे आलम तथा आलम की पत्नी तरन्नुम को बचा लिया. अंबिया बेगम बुरी तरह घायल है. उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक, प्रभारी जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी, कोतवाली प्रभारी, पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन शकील अहमद बबलू मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली. पोस्टमार्टम हाउस पर सपा विधायक मनोज सिंह डब्लू भी पहुंचे. उन्होंने घटना की जानकारी मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव को दी.

मुख्यमंत्री ने मृतकों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए प्रत्येक मृतक के परिजन को दो-दो लाख रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष से देने का आश्वासन दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!