छत्तीसगढ़: 120 संविदा चिकित्सक बर्खास्त

रायपुर | एजेंसी: डॉक्टरों की कमी झेल रहे छत्तीसगढ़ में जेएनएम मेडिकल कॉलेज के 120 संविदा डॉक्टरों को बर्खास्त करने से चिकित्सा सेवा प्रभावित होने की आशंका है. मेडिकल कॉलेज कौंसिल की बैठक में लिए गए इस निर्णय के बाद बर्खास्त डॉक्टर कभी भी मेडिकल कॉलेज में अपनी सेवाएं नहीं दे पाएंगे. वैसे भी छत्तीसगढ़ में डाक्टरों की कमी है. निर्धारित संख्या के मुकाबले डॉक्टरों की संख्या कम है और कई बार स्वास्थ्य मंत्री विधानसभा में यह स्वीकार कर चुके हैं.

रायपुर मेडिकल कालेज के डीन डॉ. ए.के.चंद्राकर का कहना है कि मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया के निरीक्षण के दौरान हेड काउंटिंग में शामिल नहीं होने वाले 120 संविदा डॉक्टरों को एक माह का नोटिस दिया गया था. जिसके बाद इनकी सेवाएं स्वत: समाप्त हो गई हैं. मेडिकल कौंसिल की बैठक में यह कठोर निर्णय लिया गया है कि बर्खास्त डाक्टरों को अब सभी मेडिकल कॉलेज में नौकरी नहीं दी जाएगी.

पिछले चार महीनों से अपनी मांगों पर अड़े संविदा डॉक्टरों को आखिर बर्खास्त कर दिया गया. संविदा डॉक्टर राजनांदगांव और बिलासपुर मेडिकल कॉलेज में संविदा डॉक्टरों को मिलने वाले वेतनमान उन्हें भी देने की मांग पर अड़े थे. लगभग 120 डॉक्टरों ने 30 अप्रैल को हुई एमआईसी के दौरे का विरोध करते हुए हेड काउंटिंग में भी शामिल नहीं हुए थे.

जाहिर है कि यदि इन बर्खास्त डॉक्टरों की सेवाएं मेडिकल कॉलेज से समाप्त हो जाती है तो नई भर्ती तक प्रदेश के सबसे बड़े 700 बिस्तर अस्पताल की स्वास्थ्य सेवाएं निश्चित ही प्रभावित होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *