तमिलनाडु में बंधुवा थे 28 छत्तीसगढ़िया

चेन्नई | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के 28 बंधुवा मजदूरों को गुरुवार को तमिलनाडु से मुक्त कराया गया है. जिसमें 13 महिलायें तथा 8 बच्चे भी शामिल हैं. तमिलनाडु के नम्मकल ईट भट्टे में पिछले एक साल से छत्तीसगढ़ के 28 मजदूर बंधुवा थे. उन्हें वहां पर दलाल द्वारा भवन निर्माण का काम दिलाने के बहाने ले जाया गया था. तमिलनाडु में इन 28 छत्तीसगढ़िया को पिछले चार माह से वेतन नहीं दिया गया था. इसी के साथ उन्हें अमानवीय परिस्थिति में काम कराया जा रहा था.

पिछले दिनों वहां से एक 16 वर्षीय छत्तीसगढ़ का मजदूर भाग कर आया था जिसने इसकी सूचना प्रशासन को दी थी. उसके बाद छत्तीसगढ़ से आठ सदस्यों की प्रशासिनक टीम ने वहां पर दबिश देकर उन्हें मुक्त कराया.


तमिलनाडु में बंधक बनाये गये सभई मजदूर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर के थे. उन्हें छुड़ाने के लिये नारायणपुर के कलेक्टर ने नम्मकल के कलेक्टर से बात की थी. इसके बाद गुरुवार को नम्मकल के फ्लाई ऐश ईंट भट्टे में छापा मार कर उन्हें छुड़ाया गया.

उल्लेखनीय है कि साल 1997 से तमिलनाडु से 15,000 छत्तीसगढञ के बंधुवा मजदूरों को मुक्त काराया गया है.

बंधक बनी नारायणपुर की अनीता ने बताया कि भागने का प्रयास करने पर उन्हें वहां पीटा जाता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!