छत्तीसगढ़ की आर्थिक साक्षरता बढ़ेगी?

रायपुर | विशेष संवाददाता: छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत केवल 26लाख परिवारों का ही बैंक अकाउंट खुल सका है. प्रधानमंत्री जन-धन योजना के आकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ में 48लाख 00हजार 768 परिवार हैं जिनमें से 38लाख 44हजार 473 परिवारो को आर्थिक रूप से साक्षर बनाने के लिये उनका बैंक अकाउंट खुलवाना है.

इनमें से 10 दिसंबर तक के आकड़ों के अनुसार 26लाख 04हजार 663 परिवारों का ही बैंक अकाउंट खुलवाया जा सका है. अभी भी करीब 12लाख 39हजार 981 परिवारों का बैंक अकाउंड खुलवाना शेष रह गया है.

छत्तीसगढ़ में जहां तक आधार कार्ड जारी करने की बात है तो 2करोड़ 55लाख 40हजार 196 की जनसंख्या में से केवल 1करोड़ 01लाख 72हजार 973 जनता को ही आधार कार्ड 17 दिसंबर 2014 तक जारी किया जा सका है.

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के अनुसार छत्तीसगढ़ में 17 दिसंबर 2014 तक 39.83 फीसदी लोगों को ही आधार कार्ड जारी किया जा सका है. जाहिर है कि पहले से चल रही इस योजना में तेजी लाने की जरूरत है.

देश के अन्य राज्यों में आधार कार्ड जारी करने की संख्या पर गौर करें तो सरकारी आकड़ों के अनुसार तेलंगाना, दिल्ली में शत-प्रतिशत, आंध्रप्रदेश में 96 फीसदी, हिमाचल प्रदेश में 95 फीसदी, पांडिचेरी, सिक्किम तथा केरल में 92 फीसदी, गोवा, चंडीगढ़ में 91 फीसदी, पंजाब 89 फीसदी, त्रिपुरा 88 फीसदी, लक्षद्वीप 86 फीसदी, झारखंड 81 फीसदी, हरियाणा 79 फीसदी, महाराष्ट्र 87 फीसदी आदि हैं.

छत्तीसगढ़ से कम आधार कार्ड केवल मणिपुर, जम्मू-कश्मीर, बिहार, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय तथा असम में ही जारी किये गये हैं.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत कोशिश की जा रही है कि देश के प्रत्येक परिवारों में कम से कम एक बैंक अकाउंट तो हो. प्रधामंत्री जन-धन योजना के के प्रावधानों के अनुसार जिस के पास अपना आधार कार्ड है उसे बैंक अकाउंट खुलवाने के लिये किसी और कागजात की जरूरत नहीं है. इसीलिये, इस योजना के तहत इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि किस राज्य में कितने आधार कार्ड जारी किये गयें हैं.

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के लिये केन्द्रीय स्तर पर आधार कार्ड की बकायदा साप्ताहिक तौर पर मानिटरिंग भी की जा रही है.

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत साफ-साफ कहा गया है कि यदि किसी के पास आधार कार्ड न हो तो उसे अपने मतदाता परिचय पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट या मनरेगा के जॉब कार्ड के आधार पर भी बैंक अकाउंट खोलने दिया जाये, आदि.

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के अनुसार बैंक अकाउंट खोलने वाले को 30हजार रुपये का जीवन बीमा तथा 1लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मुफ्त में दिया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *