छत्तीसगढ़: ‘अदृश्य’ जोगी ने मारा रावण

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बिरगांव में अजीत जोगी ने बिना पहुंचे ही रावण को मार दिया. दरअसल, जोगी समर्थकों तथा कांग्रेसियों के बीच चल रहे विवाद की वजह से कलेक्टर ने किसी राजनेता के मुख्य अतिथि बनने पर रोक लगा दी थी. उसके बावजूद, जोगी समर्थक बिरगांव दशहरा समिति के प्रमुख ओम प्रकाश देवांगन ने ऐसा माहौल तान दिया मानो अजीत जोगी खुद रावण का वध कर रहें हैं.

इस बार का बिरगांव का रावण दहन जोगी समर्थकों एवं कांग्रेसियों के बीच विवाद का कारण बन गया. कांग्रेसी चाहते थे कि सत्यनारायण शर्मा को मुख्य अतिथि बनाया जाये वहीं जोगी समर्थक दशहरा समिति के अध्यक्ष व पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष ओम प्रकाश देवांगन जोगी को मुख्य अतिथि बनाना चाहते थे.

विवाद इतना बढ़ गया कि मामला कोर्ट तक पहुंच गया. कोर्ट ने कलेक्टर को मामला सुलझाने के लिये कहा. जिसके बाद कलेक्टर ने किसी भी राजनेता को मुख्य अतिथि बनाने पर रोक लगा दी. इसके बाद कांग्रेसी पीछे हट गये.

लेकिन दशहरा समिति का अध्यक्ष होने के नाते जोगी समर्थक अध्यक्ष ने अजीत जोगी की अनुपस्थिति में भी रावण दहन को जोगी मय बना दिया. राम लीला के दौरान दसियों का जोगी का जिक्र किया गया.

बिरगांव के अडवानी हाई स्कूल परिसर में हुये इस कार्यक्रम में बाहर से आये कलाकारों ने आतिशबाजी की. राम लीला के दौरान दर्शकों को खूब हंसाया गया. कलाकारों ने छत्तीसगढ़ में संवाद बोले. हास्य के दौरान ही देश की व्यवस्था पर तंज कसे गये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *