छत्तीसगढ़: छात्रसंघ आमने-सामने

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के सरगुजा यूनिवर्सिटी के चुनाव के परिणाम आने के बाद अभाविप तथा एनएसयूआई आमने सामने आ गई है. चुनाव परिणाम के अनुसार सरगुजा यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव में अभाविप के उम्मीदवार जीतें हैं. अभाविप के मार्कण्डेय तिवारी अध्यक्ष, छाया साहू उपाध्यक्ष, रोहित लकड़ा सचिव तथा सिद्घार्थ सर्राफ सह सचिव निर्वाचित घोषित किए गए हैं.

एनएसयूआई का दावा है कि उसे जशपुर से ज्यादा मत मिले हैं जबकि मतगणना में कम दिखाया जा रहा है. एनएसयूआई ने कुपति को ज्ञापन सौंपकर चुनाव को को रद्द करने की मांग की है. एनएसयूआई का कहना है कि चुनाव परिणाम मिले मैसेज के आधार पर घोषित किये गये हैं. वहीं, अभाविप ने कुलपति से शिकायत की है कि एनएसयूआई ने मतदान का फोटो खींचकर मतदान की गोपनीयता भंग की है.


एनएसयूआई द्वारा आरोप लगाया गया है कि जशपुर जिले के कालेजों मे एनएसयूआई पैनल को छह वोट मिले हैं. इसका प्रमाण भी उनके पास उपलब्ध है परंतु विश्वविद्यालय ने जो मतगणना की सूची तैयार की है उसमें एनएसयूआई पैनल को मात्र दो वोट मिलना ही दर्शाया गया है. इसके अतिरिक्त आवश्यकता से अधिक मतपत्र कालेजों में भेजकर गड़बड़ी करने का अवसर दिए जाने का आरोप लगाते हुए एनएसयूआई द्वारा कल कुलपति डा. बीएल शर्मा को ज्ञापन सौंपा गया था.

उधर अभाविप के प्रदेश सहमंत्री अंकित जायसवाल ने भी कुलपति को ज्ञापन सौंप मतपत्रों की गोपनीयता का उल्लंघन करने का आरोप एनएसयूआई पर लगा वैद्यानिक कार्रवाई करने की मांग की गई है. कुलपति को प्रेषित ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि छात्रसंघ चुनाव होने के उपरांत यह जानकारी हुई कि विपक्षी छात्रसंगठन एनएसयूआई के द्वारा मतदान प्रक्रिया के दौरान चुनावी मतपत्र का मोबाईल के माध्यम से फोटो लिया गया है जो कि चुनाव आचार संहिता एवं चुनावी गोपनीयता को भंग करने का कार्य है. ऐसी परिस्थिति में इस अपराध हेतु त्वरित काईवाई कर विश्वविद्यालय प्रशासन अपनी निष्पक्षता प्रदर्शित करे.

ऐसी परिस्थिति में इस अपराध हेतु त्वरित काईवाई कर विश्वविद्यालय प्रशासन अपनी निष्पक्षता प्रदर्शित करे. दोनों छात्र संगठनों के आमने-सामने आ जाने से गुरूवार को पूरे दिन विश्वविद्यालय परिसर में गहमा-गहमी बनी रही.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!