अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज शिक्षकविहीन

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में कौन पढ़ायेगा यह गंभीर समस्या बन गया है. छत्तीसगढ़ शासन ने सिम्स बिलासपुर, मेकाहारा रायपुर तथा शासकीय मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव से 28 चिकित्सा शिक्षकों का स्तानांतरण किया गया है. जिनमें से केवल 2 ने ज्वाइनिंग दी है, 4 ने हाईकोर्ट से स्टे ले लिया है तथा बाकी के 22 मेडिकल लीव पर चले गये हैं.

छत्तीसगढ़ के संचालक शिक्षा सेवा के कार्यालय में इन सभी 22 चिकित्सा शिक्षकों को उपस्थित होने का फरमान जारी किया गया है. यदि वे वाकई में बीमार हैं तो उन्हें राहत मिल सकती है अन्यथा उनपर कार्यवाही का संकेत दिया गया है.

हाल ही में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने सरगुजा के अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज का शुभारंभ किया है. 5 सितंबर से क्लास शुरु होनी है परन्तु केवल दो शिक्षक ही अभी तक वहां पहुंचे हैं. दूसरे तरफ हॉस्टल में रहने वाले छात्र यहां पहुच चुके हैं. पहले सत्र में एनाटामी, फिसियोलॉजी तथा बायो-केमेस्ट्री पढ़ाया जाना है.

उल्लेखनीय है कि सासन ने अंबिकापुर के सत्ती पारा में इन चिकित्सा शिक्षकों के लिये आवास उपलब्ध करवाया है. 6 सितंबर को मेडिकल लीव पर गये सभी 22 शिक्षकों से विशेष मेडिकल बोर्ड के समक्ष उपस्थित होने का फरमान जारी किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *