गरीबों के जीवन में बदलाव आएगा

अंबिकापुर | संवाददाता: प्रधानमंत्री जन-धन योजना का शुभारंभ गुरुवार को सरगुजा जिले में गृहमंत्री रामसेवक पैंकरा ने 24 नागरिकों को बैंक खाता सौंप कर किया. गृहमंत्री ने इसे ऐतिहासिक दिन बताया. उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति का बैंक खाता खोलना आर्थिक समृद्धि का द्वार है.

इस अवसर पर गृहमंत्री ने कहा कि यह योजना एक महती योजना है. जिसे सबके सहयोग से सफल बनाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार हो ताकि गांव व शहर के प्रत्येक व्यक्ति तक जानकारी पहुंच सके. गृहमंत्री पैकरा ने कहा कि योजना से गरीबों के जीवन में बदलाव आएगा और बैंक खाते होने से आर्थिक समृद्ध के द्वार खुलेंगे.


इस अवसर पर विधानसभा प्रतिपक्ष के नेता टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि यह योजना दूरदृष्टि का परिचायक है. इससे अर्थव्यवस्था में लोगों की भागीदारी बढ़ेगी उन्होंने कहा कि यह निर्णय स्वागत योग्य है. हर घर में दो व्यक्तियों के पास खाता हो इसके लिए हम सब को मिलकर प्रयास करना होगा. उन्होंने बैंक के अधिकारियों को इस विशेष प्रयास के लिए शुभकामनाएं देते हुए अधिक से अधिक लोगों का खाता खोलने का आग्रह किया.

जिला पंचायत के सभाकक्ष में प्रधानमंत्री जन-धन योजना के शुभारंभ कार्यक्रम के सीधा प्रसारण में राजनैतिक दल के प्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, शासकीय एवं अशासकीय संस्था के अधिकारी-कर्मचारी तथा प्रतिनिधि एवं हितग्राही बड़ी संख्या में शामिल हुए.

जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा प्रतिपक्ष के नेता टी.एस. सिंहदेव, सीतापुर विधायक अमरजीत भगत, लुण्ड्रा विधायक चिन्तामणी महाराज, महापौर प्रबोध मिंज, अनिल सिंह मेजर, कमिश्नर टी.सी. महावर, कलेक्टर ऋतु सैन एवं पुलिस अधीक्षक सुन्दरराज पी. तथा सेन्ट्रल बैंक के महाप्रबंधक एस. दास गुप्ता उपस्थित थे.

क्या है प्रधानमंत्री जन-धन योजना
इस योजना के तहत हर घर में दो बैंक खाता खोला जाएगा तथा एक लाख रूपए का दुर्घटना बीमा सहित रूपये डेबिट कार्ड की सुविधा प्रदान किया जाएगा. 1 वर्ष तक खाते के संतोषप्रद संचालन के पश्चात हर परिवार की महिला को 5 हजाररूपए तक की ओवरड्राफ्ट की सुविधा होगी. हितग्राहियों को सरकारी योजनाओं की राशि सीधे खाते में मिलेगा तथा पेंशन, बीमा का लाभ व जीरो बैंलेस पर एकाउंट खोला जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!