छत्तीसगढ़: फ्लोराइड निवारण संयंत्र

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बस्तर में फ्लोराइड तथा आर्सेनिक युक्त जल को साफ करने के लिये सरकार संयंत्र लगायेगी. छत्तीसगढ़ के फ्लोराइड, आयरन एवं आर्सेनिक प्रभावित गांवों में स्वच्छ और सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग दो समूह जलप्रदाय योजनाएं शुरू करेगी.

पेयजल में फ्लोराइड और आयरन की अधिकता से प्रभावित बस्तर जिले के 29 गांवों में साफ पेयजल के लिए राज्य शासन ने कोसारटेडा समूह जलप्रदाय योजना के लिए 49 करोड़ 76 लाख रूपए स्वीकृत किए हैं.


बस्तर जिले में आयरन और फ्लोराइड प्रभावित बसाहटों में शुद्ध पेयजल के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा कोसारटेडा समूह नल-जल योजना शुरू की जाएगी. इस योजना के अंतर्गत स्थानीय कोसारटेडा बांध के पानी को शुद्ध कर पाइपलाइनों के जरिए पीने का पानी 29 गांवों तक पहुंचाया जाएगा.

इस समूह नल-जल योजना के तहत बस्तर विकासखंड के खडका, सालेमेटा, चुरावंड, खंडातरा, तरपुरा, पालिभाठा, केशरपाल, नहरमी, सोरगांव, जामगांव, विश्रामपुरी, भानपुरी, मुरकूछी, कुम्हली, नांदपुरा, फाफनी, बनियागांव, पिपलावांड, सितलावड़, मंजूला, तारागांव, करंडोला, बोडनपाल, बेसोली, बकेल, देवदा, सोनारपाल, मौलीगुड़ा एवं सिवनी गांव को शामिल किया गया है. इनमें से आठ गांव फ्लोराइड प्रभावित हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!