छत्तीसगढ़: जारी है तिरंगा यात्रा

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के बस्तर में तिरंगा यात्रा जारी है. 9 अगस्त को शुरु हुई यह यात्रा 15 अगस्त को गोमपाड़ में स्वतंत्रता दिवस के दिन राष्ट्रीय़ ध्वज को फहराने के बाद समाप्त हो जायेगी. इस यात्रा में शामिल छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के नंदकुमार कश्यप ने बताया कि इस यात्रा का उद्देश्य उन लोगों को आईना दिखाना है जो देशभक्ति की आड़ में आदिवासियों का दमन कर रहे हैं और नैसर्गिक खनिज, जंगल और पानी बेचकर पूंजीपतियों को लाभ पहुँचा रहे हैं.

उन्होंने आगे कहा कि इन क्षेत्रों के गावों की आबादी घट गई है. कुछ गांव में चंद वृद्ध बचे हैं, युवा और महिलायें भयभीत और असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. ऐसे समय में दमन और संघर्ष में तपकर सोनी सोरी बाहर आईं और आसपास के बड़े क्षेत्र में पुलिस अत्याचार पीड़ितों के साथ खड़ी हुईं.

नंदकुमार कश्यप ने कहा आज भी गोमपाड़ के रास्ते के अधिकांश गांव आधारभूत सुविधाओं से वंचित हैं, उन गावों को शायद यह भी पता नहीं कि देश आजाद है और उसका एक राष्ट्रीय ध्वज भी है. दूसरी ओर माओवाद के नाम पर कुछ लोग बंदूक के आतंक पर आदिवासियों पर अपनी हुकूमत कायम करने की कोशिशों में हैं.

ऐसी परिस्थिति में सोनी सोरी की जिद कि आजादी की रोशनी इन गांवों तक ले कर जायेंगी, एक क्रांतिकारी कदम है, और आजादी के प्रतीक इस तिरंगे को गोमपाड़ में फहराना माओवादियों और सरकार दोनों के लिए चुनौती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *