छत्तीसगढ़: भूख से शिक्षक की मौत

जगदलपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के बस्तर में एक शिक्षक की कथित रूप से भूख के कारण मौत हो गई है. समेली के प्राइमरी स्कूल में पदस्थ 47 वर्षीय शिक्षक पोषण दीवान की मौत मंगलवार को हो गई.

पड़ोसियों का कहना है कि उसकी मौत भूख से हुई है. पिछले कई दिनों से वह मांगकर खाना खा रहा था. मृतक शिक्षक की बीबी तथा दो नाबालिक बच्चे भी लंबे समय से बीमारी से जूझ रहें हैं.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही भूख से मरने के दावे की पुष्टि हो सकेगी. उऩका शव नकुलनार के कुआकोंडा के अस्पताल में रखा है.

मिली जानकारी के अनुसार दो साल पहले पोषण दीवान पर ड्यूटी में लापरवाही का आरोप लगा था. जिसकी जांच शिक्षा विभाग कर रहा है. उसी समय से शिक्षक का वेतन भी रोक दिया गया था.

बताया जा रहा है कि शिक्षक पोषण दीवान अक्सर लोगों के घर से मांगकर खाना खाया करता था. वह लगातार बीईओ दफ्तर का चक्कर काटा करता था परन्तु उसे न ही वेतन मिला और न ही उसका कारण बताया गया. इस दौरान भी वह स्कूल में बच्चों को पढ़ाने जाते रहते थे.

भूख से मौत
प्रत्येक भारतीय को जिंदा रहने के लिये रोज 2100 कैलोरी के भोजन की आवश्यकता होती है. ग्रामीण क्षत्रों में यह 2200 कैलोरी तथा शहरी क्षेत्रों में 2000 कैलोरी है. लगातार भूखे रहने या कम खाने से के कारण व्यक्ति कुपोषण, रक्त में कमी जैसे बीमारियों का शिकार हो जाता है. शरीर कमजोर होने पर तरह-तरह की बीमारी घेर लेती है. रक्त में कमी के कारण शरीर के अंगो तक सही मात्रा में आक्सीजन नहीं पहुंचना मौत का कारण हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *