घर में लाश, शहर में ढ़िढ़ोरा

रायपुर | संवाददाता: जिसे जमाने भर में खोजा जा रहा था उसकी लाश घर में गड़ी थी. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में घर में लाश तथा शहर में ढ़िढ़ोरा वाली बात देखने को मिली है. खम्हारडीह के सतनाम चौक में रहने वाला ट्रक ड्राइवर 45 वर्षीय राजविंदर सिंह पिछले डेढ़ साल से लापता था. उसकी पत्नी 40 वर्षीय मनप्रीत कौर बच्चों का बताया करती थी कि तेरा पिता पंजाब गया हुआ है जल्द ही वापस आ जायेगा.

तीन दिन पहले राजविंदर सिंह के तेलीबांधा में रहने वाले भाई आजादविंदर सिंह को शक हुआ और उसने पुलिस को इत्तिला दी कि उसे शक है कि उसके भाई को मारकर घर में ही गाड़ दिया गया है.

आजादविंदर की शिकायत पर गुरुवार पुलिस राजविंदर के घर पहुंची. जब खुदाई की गई तो वहां फर्श के नीचे उसकी लाश मिली. लाश के साथ नमक भी डाला गया था ताकि वह जल्द गल जाये.

पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछने पर मृतक राजविंदर की पत्नी मनप्रीत ने बताया कि उसने अपने पति की मौत के बाद पैसे के अभाव में उसकी लाश को अपने कथित प्रेमी 35 वर्षीय रामाधार यादव की मदद से घर में ही गाड़ दिया था.

मनप्रीत ने पुलिस को बताया कि उसके पचि को टीबी तथा शुगर था जिससे उसकी मौत हो गई थी. मनप्रीत का कहना है कि अंतिम संस्कार करने के लिये पैसे न होने के कारण पति की लाश को घर में गाड़ दिया गया था.

मनप्रीत के बयान से सवाल उठता है कि यदि बीमारी से ही उसके पति की मौत हुई थी तो परिजनों को क्यों जानकारी नहीं दी गई. मनप्रीत ने पति की मौत की खबर बच्चों से क्यों छुपाई? जबकि उसका बड़ा बेटा 19 वर्षीय हरदीप सिंह ट्रक चलाता है. दूसरा बेटा 14 वर्षीय बलदीप कक्षा नवमीं में पढ़ता है. मनप्रीत की सबसे छोटी बेटी 2 साल की है.

पड़ोसियों का कहना है कि मनप्रीत का रामाधार यादव के साथ नाज़ायज संबंध था जिसमें उसका पति रोड़ा था. बहरहाल, पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा जांच कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *